एमपी के इस शिक्षक ने किया ऐसा काम… इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नाम

कटनी। वंदना तिवारी।

 मौजूदा सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान पर काम कर रही है जाहिर तौर पर बेटियां इस देश की ही नहीं बल्कि दुनिया भर की सबसे अनमोल धरोहर है इस बात को सरकार ने अब समझा है लेकिन द्वारा विकासखंड के  स्कूल के शिक्षक ने 21 साल पहले ही इस बात को समझ लिया था शायद यही वजह है कि वे पिछले 21 साल से बेटियों की पूजा करते आ रहे हैं।

दरअसल, कटनी जिले के बड़वारा विकास खण्ड का प्राथमिक शाला लोहरवारा उस वक्त सुर्खियों मे आ गया जब इण्डिया बुक ऑफ़ रिकार्ड मे यहां के एक शिक्षक का नाम दर्ज हो गया – सुबह – सुबह स्कूल पहुंची इन तमाम छात्राओं के पांव धोते हुए ये शक्स राजा भैया सोनी हैं ।खास बात ये है कि ये खुद इसी स्कूल के शिक्षक हैं और ये रोजाना स्कूल पहुंचने वाली छात्राओं के पांव धोते हैं ।राजा भैया सोनी के मुताबिक इस दुनिया भर की महिलाएं सम्मान की हकदार हैं और ये तमाम लड़कियां जाति धर्म के बंधनों से मुक्त हैं लिहाजा इनका सम्मान किया जाना चाहिए ।

यही वजह है कि राजा भैया सोनी पिछले 21 सालों से इस प्रक्रिया को अनवरत जारी रखे हुए हैं। इन्हें इस बात से कोई सरोकार नही है कि इस काम के बदले उन्हें क्या पुरूस्कार मिलेगा फ़िर भी जब इस बात की जानकारी इन्डिया बुक ऑफ़ रिकार्ड के लोगों को लगी तो वे लोग मामले की पूरी जानकारी ईकट्ठा करने के बाद राजा भैया सोनी का नाम अपने बुक रिकार्ड में दर्ज कर लिए हालांकि राजा भिया सोनी अपने मूलत: स्वभाव के चलते बच्चियों का सम्मान करते हैं उनके मुताबिक दुनिया भर की महिलाएं पूज्य हैं क्योंकि हमारी सृष्ठी को यहां तक पहुंचाने में इनका हीं योगदान है। लिहाजा सभी लोगों को इस तरह की मासूम बच्चियों का सम्मान करना चाहिए।

इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने वाले इस देश के ये पहले शिक्षक हैं जिन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में एक नई नजीर पेश की है….इस शिक्षक को देख हो सकता है आने वाले समय मे बालिकाओ महिला ओ को सम्मान करने की लोगो मे इच्छा शक्ति बढे और प्रदेश में छात्राओ की शिक्षा स्तर में भी इजाफा हो।