suspended

खंडवा।

मंगलवार को कमलनाथ सरकार द्वारा शुरु की गई ‘जय किसान ऋण माफी योजना’ में लापरवाही के चलते खंडवा कलेक्टर ने दो कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया है, वही एक अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि कर्मचारियों ने हितग्राहियों के नाम पंचायतों में चस्पा नही किए थे, जिसके चलते किसान परेशान हो रहे थे।

दरअसल, ” जय किसान फसल ऋण माफी योजना ” में  लापरवाही बरतने वाले नोडल अधिकारी सहायक पशुचिकित्सा अधिकारी विक्रम भाले राव तथा वरिष्ठ कृषी विकास अधिकारी BL टेलर को कलेक्टर  विशेष गढ़पाले ने निलम्बित किया है। एक अन्य नोडल अधिकारी ग्रामीण उद्यानिकी विस्तार अधिकारी अभिलाषा तिवारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।खबर है कि कर्मचारियों ने हितग्राहियों के नाम पंचायतों में चस्पा नही किए थे, जिसके चलते किसान परेशान हो रहे थे, जब यह बात कलेक्टर के पास पहुंची तो उन्होंने जिम्मेदार दोनों कर्मचारियों को तुरंत सस्पेंड कर दिया और एक अधिकारी को शोकॉज नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मंगलवार को ‘जय किसान फसल ऋण माफी योजना” का शुभारंभ किया था। इस योजना से प्रदेश के 55 लाख किसानों को ऋण माफी का लाभ मिलेगा। इन किसानों के 50 हजार करोड़ रूपये के फसल ऋण माफ हो जायेंगे। इसके साथ ही पूरे प्रदेश में ऋण माफी की प्रक्रिया शुरू हो गई है। उन्होंने प्रतीक स्वरूप दस किसानों से ऋण मुक्ति आवेदन भरवाये और प्राप्त किये। आगामी पांच फरवरी तक पूरे प्रदेश में यह प्रक्रिया पूरी हो जायेगी।मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना मध्यप्रदेश के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगी और इसमें लापरवाही करने वालों पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी।