MP: सड़क हादसे में पिता-पुत्री की मौत, 2 बच्चों की हालत गंभीर, कार काट निकालने पड़े शव

खंडवा। सुशील विधानी।

लॉकडाउन खुलते हैं दुर्घटनाओं का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है इंदौर इच्छापुर हाईवे जोकि किलर हाईवे के नाम से शामिल हो गया है जहां आए दिन दुर्घटनाएं के कारण कई लोग मौत के काल में समा गए हैं ना तो राज्य शासन को इस ओर ध्यान जाता है और ना ही नेताओं को प्रशासन अपनी खानापूर्ति जरूर कर लेता है लेकिन दुर्घटनाओं का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है इतनी भीषण दुर्घटना की कार में से लोगों को कार के पतरे काट काटकर के बाहर निकाला गया बताया जा रहा है कि शादी में शामिल होने इंदौर से बुरहानपुर जा रहे एक परिवार के लोग हादसे का शिकार हो गए। इंदौर इच्छापुर हाईवे (किलर हाईवे) पर देशगांव चौकी अंतर्गत रोशिया फाटे के पास ट्राले ने कार को टक्कर मार दी। जिसमें कार में सवार पिता-पुत्री की मौत हो हो गई। वहीं, बच्चों व महिलाओं सहित 9 लोग घायल हो गए। घटना शनिवार शाम 5 बजे करीब की बताई जा रही है। घायलों को जिला अस्पताल लाया गया, जहां ड्यूटी डॉक्टर के अलावा कोई अन्य डॉक्टर नहीं होने से घायल करीब आधा घंटा स्ट्रेचर और वाहन में ही तड़पते रहे। घटना के बाद ट्राला चालक मौके से फरार हो गया।

इंदौर के चंदन नगर और नयापुरा निवासी परिवार शनिवार को शादी में शामिल होने बुरहानपुर जा रहा था। इस दौरान देशगांव के आगे रोशिया फाटे पर उनकी कार क्रमांक एमपी-04-एचबी-1223 को सामने से आ रहे ट्राले एमपी-33-एच-0991 ने टक्कर मार दी। टक्कर इतरी भीषण थी कि कार के परखच्चे उड़ गए और उसमें सवार लोग चकनाचूर कार में फंस गए। दो बच्चों के पूरे शरीर में कार के कांच घुस गए। इस दौरान वहां से गुजर रहे पुलिस वाहन में सवार पुलिसकर्मियों ने हादसा देख तुरंत ही गाड़ी रोक घायलों की मदद के लिए पहुंचे। पूरी तरह से चकनाचूर कार में से बड़ी मुश्किल से पुलिसकर्मियों ने घायलों को खींच-खींचकर निकाला और वहां से गुजर रहे वाहनों को रोककर जिला अस्पताल खंडवा के लिए रवाना किया।

अस्पताल में तड़पते रहे घायल
शाम सात बजे करीब घायलों को लोग अपने वाहनों से जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां मात्र एक डॉक्टर इमरजेंसी ड्यूटी पर मौजूद था। इतने सारे घायलों को एक साथ देखकर ड्यूटी डॉक्टर ने कॉल ड्यूटी डॉक्टर और सिविल सर्जन को जानकारी दी। डॉक्टरों को आने में करीब आधा घंटा लग गया। इस दौरान घायल बाहर वाहन में और स्ट्रेचर पर ही तड़पते रहे। घायलों में चार छोटे बच्चे और दो महिलाएं शामिल है। 60 साल की बुजुर्ग महिला के दोनों पैरों में गंभीर चोट आई है। जबकि दो बच्चों के शरीर में कार के कांच घुसे हुए थे। इन दोनों की हालत भी गंभीर बताई जा रही है।

पिता-पुत्री की मौके पर ही मौत
ट्राले की टक्कर से कार में सवार चंदन नगर निवासी इरशाद पिता याया (45) और उनकी पुत्री शीफ (5) साल की मौके पर ही मौत हो गई। घायलों में मदिया पिता खालिद (15), ताहा पिता बशीर (30) दोनों निवासी नयापुरा इंदौर और चंदन नगर निवासी सबिया याया खान (60), सैयदा पिता इरशाद (9), अंजुम पति असलम (32), असलम पिता याया (35), अलिशा पिता मो. खालिद (10), उबेर पिता असलम (2) और ड्रायवर इमरान पिता अजीज शामिल है। घटना के बाद जिला अस्पताल में घायलों को देखने के लिए भीड़ लग गई। जिसके चलते गहमा गहमी का माहौल बन गया। घायलों ने अपने साथ हुई दुर्घटना की जानकारी इंदौर और बुरहानपुर निवासी रिश्तेदारों को दी। देर रात घायलों के रिश्तेदार खंडवा पहुंचे।