संस्कृति विभाग के मुख्य सचिव शिव शेखर शुक्ला ने किया ओंकारेश्वर का दौरा, दिए जरुरी दिशा-निर्देश

खंडवासुशील विधानी

गुरुवार को संस्कृति एवं जनसम्पर्क विभाग के प्रमुख सचिव शिव शेखर शुक्ला ने गुरूवार को ओंकारेश्वर का दौरा कर वहां संस्कृति विभाग के तहत स्वीकृत कार्यो की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने इस दौरान बरसते पानी में ओंकार पर्वत पर जाकर वहां आदि शंकराचार्य जी की 108 फीट ऊंची विशाल धातु प्रतिमा स्थापित करने के लिए निर्धारित स्थल का अवलोकन किया।

साथ ही मूर्ति स्थापना कार्य से पूर्व अन्य तैयारियों को समय सीमा में पूरा करने के निर्देश संस्कृति विभाग के अधिकारियों को दिए। इस दौरान कलेक्टर अनय द्विवेदी, मुख्य वन संरक्षक एसएस रावत, संचालक संस्कृति विभाग अदिति कुमार त्रिपाठी, मुख्यमंत्री के उप मुख्य सचिव मनीष पाण्डे तथा आदिगुरू शंकराचार्य न्यास के प्रभारी एवं सहायक संचालक संस्कृति शैलेन्द्र मिश्रा सहित संस्कृति, वन एवं पर्यटन विभाग के विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

प्रमुख सचिव संस्कृति ने ओंकार पर्वत भ्रमण के दौरान गौरी सोमनाथ मंदिर परिसर तथा राज राजेश्वरी संस्थान का भी दौरा किया तथा वहीं अधिकारियों की बैठक लेकर निर्देश दिए कि आदि शंकराचार्य की मूर्ति स्थापना के कार्य को शीघ्रता से और गुणवत्ता के निर्धारित स्तर का ध्यान रखते हुए पूर्ण किया जाये। उन्होंने कहा कि ओंकारेश्वर को विश्व स्तरीय पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए और भी विकास कार्य संस्कृति एवं पर्यटन विभाग द्वारा स्वीकृत किए गए है।

इस दौरान प्रमुख सचिव संस्कृति ने एनव्हीडीए गेस्ट हाउस के पास स्थित पहाड़ी पर निर्मित किए जाने वाले आचार्य शंकर संग्रहालय और अंतर्राष्ट्रीय वेदान्त संस्थान के लिए भी निर्धारित स्थान का अवलोकन किया और वहां सभी आवश्यक तैयारियों को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ओंकार पर्वत पर स्थापित होने वाली आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के आसपास आकर्षक उद्यान विकसित करने पर भी अभी से ध्यान दिया जाये। इस दौरान बताया गया कि आदि शंकराचार्य के जीवन दर्शन के बारे में जानकारी देने वाली प्रदर्शनी भी यहां लगाई जायेगी। प्रमुख सचिव संस्कृति ने ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर परिसर में पर्यटन विभाग द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यो को भी देखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here