प्रदेश का पहला मॉडल बना पंधाना जनपद के घाटीखास ग्राम पंचायत का स्वच्छता परिसर

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण योजना अंतर्गत हासिल किया ये गौरव

खंडवा, सुशील विधानी। जिला अंतर्गत जनपद पंचायत पंधाना की ग्राम पंचायत घाटीखास का स्वच्छता परिसर प्रदेश का पहला सामुदायिक स्वच्छता परिसर मॉडल बनकर उभरा है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर इस स्वच्छता परिसर में ना केवल ग्रामीणों ने स्वच्छता का संकल्प और शपथ ली, बल्कि यहां पर अधिकारियों सहित झाड़ू लगाकर स्वच्छता का संदेश भी दिया।

जिला खंडवा अंतर्गत गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना के तहत स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण योजना अंतर्गत जिले के समस्त 7 जनपदों में 200 सामुदायिक स्वच्छता परिसर के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है। 9 सितंबर को पंधाना के घाटीखास ग्राम पंचायत में फ्लोर कारपेट किए गए सामुदायिक स्वच्छता परिसर को मॉडल के रूप में सराहा गया। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोशन सिंह ने बताया कि पंधाना की घाटीखास ग्राम पंचायत में निर्मित सामुदायिक स्वच्छता परिसर न केवल लगभग 3000 आबादी वाले ग्रामीणों के लिए सुलभ शौचालय के रूप में स्थापित हुआ है, बल्कि इसी मार्ग से धार्मिक स्थलों तक पहुंचने वाले श्रद्धालुओं और यात्रियों के लिए भी काफी उपयोगी साबित होगा।

गांधी जयंती के अवसर पर ग्राम पंचायत के सरपंच, जनपद पंचायत पंधाना के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कांतिलाल सोलंकी और जिला पंचायत खंडवा के परियोजना अधिकारी राजेन्द्र कोसरिया जनपद पंचायत पंधाना के ब्लॉक समन्वयक एसबीएम हेमंत कनेरिया पहुंचे और उन्होंने ग्रामीणों के साथ स्वच्छता परिसर की साफ सफाई की। साथ ही ग्रामीणों को समझाइश दी की स्वच्छता परिसर का अच्छे से उपयोग करें। जिले में कुल 7 जनपद में से बलड़ी में 16 छैगांव, माखन में 26, हरसूद में 20, खालवा में 35, खण्डवा में 32, पंधाना 42, पुनासा में 29 परिसर, इस प्रकार जिले में कुल 200 परिसर स्वीकृत हैं। इसमें से 27 सामुदायिक स्वच्छता परिसर पूर्ण हो चुके हैं तथा 173 सामुदायिक स्वच्छता परिसर आगामी 10 अक्टूबर तक पूर्ण किए जाने का लक्ष्य रखा गया है। सामुदायिक स्वच्छता परिसर के निर्माण में बड़ी बसाहट हाट बाजार या फिर जहां पर प्रवासी श्रमिक ज्यादा है ऐसे स्थानों पर स्वीकृत किए गए हैं। साथ ही धार्मिक स्थल क्षेत्र बस स्टैंड एवं अनुसूचित जाति जनजाति के बसाहट वाले क्षेत्रों में स्वछता परिसर के निर्माण आमजन को सुविधा और पर्यावरण की स्वच्छता सुनिश्चित करेंगे।