Video : आखिर क्यों आए Shivraj के लब पर किशोर दा के बोल, गुनगुनाया कौन सा गीत

खंडवा, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि मैं अपनी कार्यशैली में किशोर दा के गानों से प्रेरणा लेता हूं। इतना ही नहीं, उन्होंने मंच से किशोर दा का एक गाना भी गुनगुनाया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने शनिवार को खंडवा को कई सौगातें दीं। इस दौरान उन्होंने नवनिर्मित संगीत कॉलेज का लोकार्पण भी किया और कहा कि इसका नाम मशहूर गायक और अभिनेता किशोर कुमार के नाम पर रखा जाएगा। मुख्यमंत्री ने मंच से अपने भाषण के दौरान कहा कि वे अपने कामों में किशोर दा के गीतों से प्रेरणा लेते हैं। मंच से ही उन्होंने किशोर दा का गीत ‘रुक जाना नहीं, तू कहीं हार के। कांटों पर चलकर मिलेंगे साये बहार के’ भी गुनगुनाया।

MP: अनाथ बच्चों को लेकर संवेदनशील हुए Shivraj के मंत्री, स्वयं के खर्चे पर कर रहे ये बड़ा काम

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने खंडवा में कई बड़ी घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश में सभी अवैध कॉलोनियों को वैध किया जाएगा और यदि कोई व्यक्ति नियमों से परे कोई थोड़ा बहुत ज्यादा निर्माण कर लेता है तो उसे भी कंपाउंडिंग के दायरे में लाया जाएगा ना कि तोड़ा जाएगा। उन्होंने बिल्डरों को चेताया कि आगे से अवैध कालोनी का निर्माण सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी। शिवराज ने यह भी कहा कि सरकार का हथोड़ा गरीब, निम्न मध्यम और मध्यम वर्ग पर नहीं बल्कि ऐसे दुष्टों पर चलेगा जो समाज के अंदर तरह तरह के अपराध करते हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पूर्व सांसद और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रहे स्वर्गीय नंदकुमार चौहान को भी याद किया और बताया कि संबल योजना का शुभारंभ सबसे पहले खरगोन जिले से ही किया गया था तब नंदू भैया मौजूद थे लेकिन वे जल्द दुनिया से चले गए। शिवराज ने यह भी कहा कि आर्थिक गतिविधियों पर बुरा असर कोरोना के कारण पड़ा है और सरकार के पास भी इस समय उपलब्ध सीमित संसाधन है लेकिन किसी भी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी और सरकार पूरी तरह से गरीबों और मजदूरों के हित में काम करेगी।