खंडवा/सुशील विधानी

प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा पूरे प्रदेश में बीजेपी के षड्यंत्र के विरुद्ध राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौपने के निर्देशों पर जिला कांग्रेस कमेटी शहर एवं ग्रामीण खण्डवा ने शुक्रवार सुबह कलेक्ट्रेट पहुचकर कलेक्टर अनय द्विवेदी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौपा।

जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा ज्ञापन के माध्यम से बताया गया कि मध्य प्रदेश में विगत दिवस मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नेका एक ऑडियो सार्वजनिक हुआ है जिसमें वे स्वीकार  कर रहे हैं कि मध्य प्रदेश की कमलनाथ की सरकार को भाजपा की केंद्रीय नेतृत्व के कहने पर  गिराया गया है। उन्होंने कथित ऑडियो में यह भी बताया है कि अगर वह सरकार नहीं गिराई जाती तो भाजपा बर्बाद हो जाती। सरकार गिराने के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसीराम सिलावट अगर साथ नहीं देते तो सरकार गिर सकती थी क्या? मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की यह स्वीकारोक्ति भाजपा के अध्यक्ष, गृहमंत्री एवं प्रधानमंत्री की ओर इशारा करती है। कांग्रेस ने अपने ज्ञापन में लिखा है कि महामहिम आप देश के लोकतंत्र के सजग प्रहरी हैं।देश की 133 करोड़ जनता ने संविधान की रक्षा करने का दायित्व आपको दिया है। आपसे निवेदन है कि अनैतिक हथकंडे अपनाकर चुनी हुई सरकारों को गिराने के प्रयासों की अनदेखी की गई। तो भविष्य में चुनाव की प्रक्रिया ही मूल्यहीन हो जावेगी। फिर तो कोई भी दल चंद विधायकों को लालच देकर सरकारों को अस्थिर करता रहेगा। संविधान ने सरकार को चुनने का जो अधिकार मतदाता को दिया है। इन हथकंडों से मतदान की शक्ति भी प्रभावहीन हो जाएगी।

ज्ञापन में कांग्रेस ने कथित ऑडियो की फॉरेंसिक जांच के निर्देश देकर, जांच करवाएं जाने एवं सिद्ध होने पर ऐसी सरकार को बर्खास्त कर लोकतंत्र की रक्षा करने की मांग की हैं। ज्ञापन सौपते समय शहर कांग्रेस अध्यक्ष ठाकुर इंदल सिंह पवार, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अजय ओझा, आलोक सिंह रावत, अहमद पटेल, वीरेंद्र गौतम,विकास व्यास, अयूब लाला, अनवर खान, वकील खान, गुरप्रीत सिंग होरा, हातिम परदेशी सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।