नहर की मांग को लेकर 140 गांव के किसान एकजुट, एएसपी समेत भारी पुलिस बल तैनात

farmers-on-road-for-protest-of-water

खंडवा। सुशील विधानि।

मध्य प्रदेश में किसानों का धरना और आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है । आज खंडवा में 140 गांव के हजारों किसानों ने विशाल किसान ट्रैक्टर रैली निकाली और खंडवा कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। लगभग 3 घंटे चला धरना प्रदर्शन प्रशासन के लिए मुसीबत बन गया। सड़कें जाम हो गई और प्रशासन को फोर्स लगाना पड़ा । एक एडिशनल एसपी और तीन थानों के टीआई ने किसी तरह किसानों को काबू में किया। बाद में कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल की समझाइश के बाद किसानों ने धरना आंदोलन स्थगित किया।

सिान नेता सवो्रदय पाटीादर ने बताया कि खंडवा शहर की सड़कों से निकल रही यह विशाल किसान ट्रैक्टर रैली शासन प्रशासन के होश उड़ाने के लिए पर्याप्त थी। आज लगभग 140 गांव के किसान नहर बनाने की मांग को लेकर सड़क पर उतरे थे। किसानों की मांग है कि ताप्ती चिल्लूर परियोजना से बनने वाली नहर साल भर बाद उनके गांव तक नहीं पहुंची है। किसानों का आरोप है कि लगभग 1 साल पहले ताप्ती चिल्लूर परियोजना की स्वीकृति हुई थी लेकिन इस परियोजना से बनने वाली नहर अब तक शुरू भी नहीं हो पाई है। किसानों ने इस बीच कई बार प्रशासन तक अपनी बात पहुंचाई लेकिन उनकी मांग अनसुनी कर दी गई। यही कारण है कि किसान आज बड़ी संख्या में कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और 3 घंटे तक धरना दिया। क्लेक्टर तन्वी सुन्दरियाल ने किसानों को आश्वस्त किया है कि शासन स्तर पर उनकी बात रखी जाएगी। इसके बाद किसानों ने धरना स्थगित कर दिया।