युवा इंजीनियर को खुदकुशी करने के लिये प्रेरित करने के आरोप में सह मित्र युवती गिरफ्तार

खंडवा। सुशील विधानी| युवा इंजीनियर आकाश हल्द्वानी की खुदकुशी मामले में मोघट थाना पुलिस ने एनजीओ कार्यकर्ता शीना नेगी के खिलाफ धारा 306 में केस दर्ज कर बंदी बनाया और उसे न्यायालय में पेश किया। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने युवती शीना को जेल भेज दिया हेै।

  उल्लेखनीय है कि किसान हित में काम कर रहे एक एनजीओ संगठन से जुडे इंजीनियर आकाश की सिर कटी लाश शनिवार रात यहां से 7 किलोमीटर दूर इटारसी भुसावल रेलखंड के मथेला स्टेशन के समीन रेलवे ट्रैक पुलिस को मिली थी । मृतक की मां सीमा हल्दवानी का अब भी आरोप है कि उनके बेटे की हत्या की गयी है वह आत्महत्या नहीं कर सकता है।मृतक के बड़े भाई अभिषेक ने बताया कि शनिवार शाम 6 बजे आकाश के मोबाइल फोन पर आरोपी युवती का फोन आया। वह आकाश को मिलने बुला रही थी। लेकिन आकाश ने उसे मना कर दिया। इसके बाद से आकाश परेशान था। इसके बाद शाम में ही  आकाश घर से निकला। कुछ घण्टे बाद खब आई कि उसका शव रेलवे ट्रैक  पर मिला है।

मोघट पुलिस थाना प्रभारी मोहन सिंह सिंगारे  ने बताया कि मृतक युवक नगर के एलआईजी किशोर नगर निवासी था। आकाश पिता रामकुमार हल्दवानी (27) ने इंदौर के एक निजी कॉलेज से इंजीनियरिंग की है। नौकरी की तलाश कर रहे आकाश ने एनजीओ में नौकरी शुरू की। पांच माह पहले आकाश की दोस्ती कथित युवती  शीना से हुई। वह उसी के साथ मूंदी-पुनासा क्षेत्र में काम कर रही थी। 

 मेरा बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता

आकाश की मां ने कहा आकाश आत्महत्या नहीं कर सकता। वह हर बात मुझसे शेयर करता था। युवती के बारे में भी सब कुछ बता दिया था।  मेरे बेटे के साथ धोखा हुआ है। उसकी हत्या की गई है। वह इस तरह रेल पटरी में सिर रखकर नहीं मर सकता।