दूध से बने उत्पादों में मिलावट का गोरखधंधा नहीं चलेगा: तुलसी सिलावट

health-minister-warning-in-khandwa

खंडवा। सुशील विधानि।

खंडवा जिले के प्रभारी और मध्य प्रदेश शासन के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट आज खंडवा पहुंचे। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में दूध और दूध से बने उत्पादों में मिलावट का गोरखधंधा नहीं चलेगा, ऐसे लोगों को सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। उन्होंने जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए खंडवा के निजी डॉक्टरों  के साथ बैठक की और उन्हें अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्रों पर निशुल्क सेवा देने के लिए राजी किया । तुलसी सिलावट आज आदिवासी दिवस के उपलक्ष में आदिवासी तहसील खालवा आए थे।

 प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट आदिवासी तहसील खालवा पहुंचे और यहां आदिवासी सम्मेलन में हिस्सा लिया।उन्होंने जनजातियों के सर्वांगीण विकास के लिए मध्य प्रदेश सरकार की प्रतिबद्धता बताई।  प्रभारी मंत्री पिछले दिनों बाढ़ से प्रभावित आशापुर और सुंदर गांव भी पहुंचे और घर-घर जाकर बाढ़ प्रभावितों से चर्चा की। उन्होंने राहत कार्यों की समीक्षा की और स्थानीय प्रशासन को तुरंत अधिकतम सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।  मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में दूध और दूध से बने उत्पादों में मिलावट खोरी का धंधा करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी तक कमलनाथ सरकार पांच मिलावट खोरों पर रासुका लगा चुकी है और 14 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि मध्य प्रदेश के नागरिकों को दूध के नाम पर जहर खिलाने वालों के लिए मध्यप्रदेश में कोई स्थान नहीं है।

प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने खंडवा के प्रतिष्ठित डॉक्टरों के साथ मुलाकात की और उनसे  कुछ समय के लिए अस्पतालों में  निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए राजी किया। उन्होंने कहा कि बेहतर स्वास्थ हर व्यक्ति की जरूरत है और जब तक डॉक्टरों की कमी पूरी नहीं की हो जाती तब तक निजी डॉक्टरों को भी समाज सेवा के रूप में  अस्पतालों में सुविधाएं देनी चाहिए। उन्होंने डॉक्टरों को भरोसा दिलाया कि उनके सम्मान और सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी मध्य प्रदेश शासन की है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here