बेटा न होने पर पति करता था प्रताड़ित, महिला ने 2 बेटियों के साथ कुएं में कूदकर जान दी

girl-commit-suicide-in-bhopal

खंडवा,सुशील विधानी

आज भी बेटियों को लेकर समाज में कई लोगो का नजरिया बेहद कुंठित है, इसी विचारधारा से प्रताड़ित होकर खंडवा में एक मां ने अपनी दो बेटियों के साथ कुएं में कूदकर खुदकुशी कर ली। केंद्र और प्रदेश सरकार बेटियों के लिए जहां अनेक योजनाएं चला रही हैं, उन्हें कई तरह के लाभ दिए जा रहे हैं, लेकिन आज भी कुछ लोग बेटियों को बोझ मानते हैं और बेटे को वंश का दावेदार। ऐसी की पुरातन मान्यता के कारण ये दर्दनाक हादसा हुआ है।

जानकारी के मुताबिक बोरगांव पुलिस चौकी क्षेत्र के ग्राम टाकली सुरेश पटेल अपनी पत्नी संतोष बाई को बेटे को जन्म न देने के कारण प्रताड़ित करता था। इसी से परेशान होकर संतोष बाई अपनी दोनों बेटियों निकिता पटेल (13 वर्ष) और बिंदू पटेल (3 वर्ष) के साथ कुएं में कूद गई। मृतका के भाई रामकृष्ण पटेल का कहना है कि संतोष बाई व सुरेश पटेल का विवाह 16 साल पहले हुआ था। तीन साल बाद संतोष बाई ने बेटी को जन्म दिया। तब से ही विवाद की शुरूआत हुई। लड़की पैदा होने से कई बार विवाद हुए। पुलिस प्रकरण बनने के बाद कोर्ट में केस भी चला। समझौते के बाद संतोष फिर अपने पति के साथ रहने लगी। इस दौरान उसे मायके भी नहीं भेजा जाता था। दूसरी बार भी जब संतोष बाई ने बेटी को जन्म दिया तो पति ने उसे मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना देना शुरू कर दिया। वह भोजन-पानी को भी तरस गई थी। मौके पर पहुंचे बोरगांव पुलिस चौकी प्रभारी जगदीश सिद्या ने बताया कि प्रारंभिक जानकारी में मामला प्रताड़ना का मालूम होता है। पति से परेशान होकर महिला ही ने बेटियों के साथ आत्महत्या की है।

पुलिस का कहना है कि पति द्वारा मारपीट व पारिवारिक कलह से परेशान होकर महिला ने अपनी बेटियों के साथ आत्महत्या की है, प्राथमिक जांच में यही बात सामने आई है। मामले में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी