खंडवा : मांगलिक परिसर की लूट के चलते अधिवक्ता ने दिया कलेक्टर को ज्ञापन, आंदोलन की भी दी चेतावनी

दरअसल अधिवक्ता का कहना है कि विवाह हेतु मांगलिक परिसर बुक कराया था, लेकिन परिसर वाले अब पैसे नहीं लौटा रहे है।

खंडवा, सुशील विधानी। खंडवा (Khandwa) जिला अधिवक्ता संघ द्वारा आज कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर एक ज्ञापन दिया गया। जिसमें बताया गया कि शादी के लिए मांगलिक परिसर बुक करवाया था। लेकिन लॉकडाउन (lockdown) के कारण वहां से शादी नहीं सकी। जिसके बाद मालिक द्वारा बुकिंग के पैसे नहीं लौटाए जा रहे है। और ऐसा शहर के कई लोगों को के साथ हुआ है। अधिवक्ता ने मांग की है कि जल्द ही इसपर कार्रवाई हो वरना हम आंदोलन करेंगे।

यह भी पढ़ें… खंडवा में पानी की समस्या को लेकर महिलाओं ने किया नगर निगम का घेराव, जमकर की नारेबाजी

अधिवक्ता महेश राठौर ने बताया कि मेरी बहन का विवाह 18 जून को था। बुकिंग के लिए आनंद परिसर के काउंटर पर 50 हजार जमा करा दिए गए थे। 25 हजार की रसीद दी गई थी व 25 हजार आउट ऑफ बताए गए थे। और कहा गया था कि उसमें बाद में आपको एग्जिट कर लेंगे। कोविड-19 महामारी के चलते विवाह समारोह पर प्रतिबंध लग गया। जिसके कारण मांगलिक परिसर का भी उपयोग नहीं हो पाया। मेरे द्वारा आनंद परिसर पहुंचकर पैसे की मांग की गई तो मुझे केवल 25 हजार ही वापस किये जा रहे हैं। बाकी पैसे देने से साफ मना कर दिया गया है। अधिवक्ता महेश राठौर का कहना है कि मैं अकेला नहीं हूं शहर के ऐसे कई लोग हैं जिनकी इस मांगलिक परिसर वाले ने पैसे लेकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। और लौटा नहीं रहे हैं। अधिवक्ता देवेंद्र यादव ने भी समर्थन में कहा कि शहर के नागरिकों के हितों को ध्यान में रखकर आने वाले दिनों में हम आंदोलन करेंगे। यदि शासन प्रशासन द्वारा कोई ठोस निर्णय नहीं लिया जाता तो आनंद परिसर वाला मैनेजर सहित अन्य लोग शहर की जनता को गुमराह कर शासन प्रशासन को धोखा देकर लोगों से रुपए ऐंठने का यह नया तरीका अपनाया है। लेकिन हम इसका विरोध करते हैं।