खण्डवा : पुलिस के हत्थे चढ़ा लाखों की लूट को अंजाम देने वाला गिरोह

खण्डवा जिले में पुलिस ने लाखों की लूट की करने वाले गिरोह को पकड़ा है। आरोपियों ने इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर रुस्तमपुर टोल नाके पर लूट की वारदात को अंजाम दिया था।

खण्डवा, सुशील विधानी। जिले में इंदौर-इच्छापुर हाईवे (Indore-Ichhapur Highway) पर ग्राम रुस्तमपुर टोल नाके के पास पुलिस ने महाराष्ट्र से आ रहे वाहन से लूट की घटना को अंजाम देने वाले गिरोह को पकड़ा है। आरोपियों ने 16 मई को लूट की वारदात को अंजाम दिया था। सभी के खिलाफ मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उन्हें न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें:-शिवपुरी : प्रतिबंध के बाद भी शादी और मृत्युभोज के हो रहे थे आयोजन, पुलिस ने किया प्रकरण दर्ज

दरअसल रविवार को खण्डवा जिले के ग्राम रुस्तमपुर में टोल टेक्स के पास अज्ञात पांच बदमाशों ने फरियादी शाकिर निवासी इंदिरा नगर औरंगाबाद ( महाराष्ट्र ) व उसके साथी की गाड़ी के सामने दूसरी गाड़ी अड़ाकर मारपीट कर दोनों से 28,060 रुपये, एक पर्स, एक मोबाईल और तूफान गाड़ी कुल किमत 5 लाख 82 हजार 060 रुपये लूट कर फरार हो गये। वारदात के बाद शाकिर ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। मामले को गम्भीरता से लेते हुए एसपी विवेक सिंह द्वारा एएसपी प्रकाश परिहार और उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय दीपा माण्डवे के निर्देशन में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दो टीम का गठन किया गया।

यह भी पढ़ें:-बालाघाट में रेलवे टिकट की कालाबाजारी कर रहा था युवक, क्राईम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

दोनों ही पुलिस टीमों ने पतासाजी की, जिसमें 17 मई सोमवार को मुखबिर से सूचना मिली कि पांच संदिग्ध लोग पंधाना आरुद रोड़ पानी की टंकी के पास बैठे है। सूचना मिलते ही पुलिस की टीमों ने मौके पर दबिश दी। पुलिस ने आरोपी सज्जाद, आफताफ, अशफाक, बिल्ला उर्फ महेन्द्र को आरुद रोड पर पानी की टंकी के पास से पकड़ा। जबकि एक आरोपी राजा उर्फ राजकुमार भागने में सफल हो गया। जिन्हें बाद में पुलिस द्वारा पकड़ लिया गया। पकड़े गये आरोपियों ने लूट की वारदात करना स्वीकार किया। वहीं आरोपियों ने पुलिस को बताया कि मामुर और सरफराज ने लूट की साजिश कर बताया कि महाराष्ट्र से गार गोटी पत्थर खरीदने के लिए दो लोग आये है। उन्होंने हमारा पत्थर नहीं खरीदा उनके पास पैसे और गार गोटी पत्थर रखा है। उनके साथ मारपीट कर लूट लो और पत्थर हमें दे देना। जिस पर लूट की वारदात को अंजाम दिया गया।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से लूट गया सामान और नगदी 23,800 रुपये जब्त कर लिए हैं। वहीं पूछताछ में जुट गई है। वहीं इस कार्रवाई में थाना प्रभारी उनि राधेश्याम मालवीय, सउनि प्रदीप पाटील, सुरेश जाधव, प्रआर. गणेश, धर्मेन्द्र, जितेन्द्र, आर. चेतन, अभिषेक, सुभाष, सचिन व आर. चा. प्रफुल्ल, चौकी प्रभारी उनि जगदीश सिंधिया, सउनि प्रताप वास्कले, विरेन्द्र, प्रआर. अरविंद, आर. योगेश की अहम भूमिका रही।