खंडवा पुलिस की सार्थक पहल, घोड़ों पर सवार पुलिस करेगी गश्त

302

खंडवा। सुशील विधानि।

खंडवा जिले पहली बार पुलिस द्वारा जिले में पुलिस बल में शामिल होंगे 12 घोड़े शामिल हो रहे हैं इससे गली – मोहल्लों में आसानी से पहुंचेंगे पुलिस द्वारा यह पहल कुछ वार्डों में शुरुआती तौर पर की जाएंगी  घोड़ों पर रात्रि गश्त करेंगे पुलिस जवान  गली – मोहल्ले व कॉलोनियों में गश्त रात्रि गश्त में यहां होगा।

इसके पीछे मुख्य कारण  चोरी की वारदातों को कम करना  और  शहर में  असामाजिक तत्वों पर नजर रखना  घोडों का इस्तेमाल करना है इसमें घुड़सवार हे एसपी शिवदयाल सिंह ने बताया कि पुलिस की रात्रि गश्त में अब घोड़ों को शामिल किया जाएगा शहरी क्षेत्र में पुलिस की इस्तेमाल भी होगा । वही गणेश उत्सव  मोहर्रम , मे घुड़सवार ओं का उपयोग किया जाता है । इसके भोपाल , इंदौर , उज्जैन , खरगोन , गणेश विसर्जन व धार्मिक त्योहारों अलावा शहर के ट्रैफिक सुधार में भी झाबुआ व अन्य शहरों में रात्रि पर ही घोड़ों ( अश्वरोही बल ) का अश्वरोही बल काम आएगा । त्योहार गश्त में घोड़ों का इस्तेमाल होता इस्तेमाल किया जाता है । एसपी ने व रैली जुलूस के दौरान गलियों में है । राजस्थान व उप्र के कई शहरों पुलिस मुख्यालय के लिए 12 घोड़ों ट्रैफिक जाम होने से पुलिस वाहन में भी घोड़ों का इस्तेमाल होता है । का प्रस्ताव भेजा था , जिसे जिले अंदर तक नहीं घस पाते हैं । ऐसे पुलिस महानिदेशक ने स्वीकृति दे दी । पुलिस घडसवारी करते हए एसपी सिंह । एक सप्ताह में अश्वरोही बल खंडवा कारगर साबित होगा । लोगों की लाइन में अस्तबल बनाया जा रहा  । घोड़ों के साथ उनके टेनर अकसर शिकायतें रहती है कि रात्रि है । खाने के लिए नागचून के जंगल 2012 बैच के आईपीएस डॉ व एक्सपर्ट का स्टाफ भी आएगा । गश्त में पलिस गलियों में नहीं पहंच में व्यवस्था की गई है । दौड़ाने के शिवदयाल सिंह अपने बैच के नंबर वन के अफसर रहे हैं

 बेस्ट घुड़सवार रहे हैं । उन्होंने के साथ घोड़ों से भी शहर व्यवस्था की जाएंगी  । सार्थक पहल को एसपी डॉ . शिवदयालसिंह द्वारा शहर में किया जा रहा है । शहर के लिए अश्वरोही बल की आवश्यकता महसूस हुई । गणेश विसर्जन चल समारोह , मोहर्रम व अन्य धार्मिक आयोजन व रैलियों के दौरान अश्वरोही बल पुलिस मुख्यालय से बुलाना पड़ता था । एसपी पुलिस महानिदेशक को 12 घोड़ों का प्रस्ताव बनाकर भेजा था । | व्यवस्था मजबूत होगी । रात्रि गश्त में घोड़ों का नियमित इस्तेमाल होगा । 12 घोड़े और एक्सपर्ट पुलिस जवान एक सप्ताह | में आ जाएंगे । कानून व्यवस्था मजबूत होगी । डॉ . शिवदयाल सिंह , एसपी खन्डवा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here