मांधाता सिविल अस्पताल में पदस्थ मनोज कुमावत बरत रहे काम मे लापरवाही

ओंकारेश्वर (निप्र)। सुशील विधानी।

हाथ-पैर में फै्रक्चर…है!….सीने में दर्द हो रहा? एक्स-रे रिपोर्ट के बिना इलाज मुश्किल है। जाओ पडोसी जिला अस्पताल या प्रायवेट अस्पताल से एक्स-रे करवाकर रिपोर्ट ले आओ कारण यह की ओंकारेश्वर के सिविल अस्पताल में एक्सरे विभाग में पदस्थ मनोज कुमावत ड्यूटी के समय अस्पताल से बाहर नवनिर्मित गार्डन में अपने मोबाईल फोन पर मरीजों को छोड़कर व्हाट्सप फैसबुक चलाने में ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

              ओंकारेश्वर के सिविल अस्पताल में सड़क दुर्घटना या अन्य हादसे में घायल कोई मरीज यहां पहुंचे तो उसका इलाज नहीं हो सकता। फ्रैक्चर के मामले में उसे नगर के जिला अस्पताल या पडोसी जिले के प्रायवेट अस्पताल ही जाना पड़ेगा। अब यदि कोई एक्स-रे कराने अन्य शहर जाए तो जाहिर है इलाज भी वहीं कराएगा। सन् 2016 सिंहस्थ के बाद से ओंकारेश्वर अस्पताल के आश्रित गांव के लोग यह दंश झेल रहे हैं। इसके लिए कई बार प्रयास हुआ, लेकिन   विडंबना कहें अव्यवस्था अपनी जगह से टस से मस नही हो पा रही हैं।