ओंकारेश्वर में उमड़ा श्रद्धालुओं का जनसैलाब, 36 घंटे खुला रहेगा मंदिर

शिवरात्रि (Shivratri) के अवसर पर शिव की नगरी ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग (Omkareshwar Jyotirlinga) में आस्था का जनसैलाब उमड़ा। षड्दर्शन संत मंडल संत समाज द्वारा ब्रह्म मुहूर्त में ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर ममलेश्वर पहुंचकर बाबा जलाभिषेक किया गया। प्रातः चार बजे मंदिर खुलते ही शिव भक्तों का दर्शनों के लिए आने का सिलसिला प्रारंभ हो गया।

ओंकारेश्वर, बाबूलाल सारंग। शिवरात्रि (Shivratri) के अवसर पर शिव की नगरी ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग (Omkareshwar Jyotirlinga) में आस्था का जनसैलाब उमड़ा। षड्दर्शन संत मंडल संत समाज द्वारा ब्रह्म मुहूर्त में ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर ममलेश्वर पहुंचकर बाबा जलाभिषेक किया गया। प्रातः चार बजे मंदिर खुलते ही शिव भक्तों का दर्शनों के लिए आने का सिलसिला प्रारंभ हो गया। ओंकारेश्वर के सभी बड़े-छोटे आश्रम के महंत शरद दर्शन संत मंडल के बैनर तले प्रति वर्ष अनुसार इस वर्ष भी महानिर्वाणी अखाड़े में एकत्रित होकर ढोल धमाके के साथ नाचते-गाते मंदिर परिसर पहुंचे। जहां तहसीलदार उदय मंडलोई ,थाना प्रभारी शिवराम जमरा ने गर्भ ग्रह में सभी संतो को दर्शन करवाएं। उसके बाद शिव भक्तों का दर्शनों का सिलसिला जारी रहा। जगह-जगह फलाहारी भंडारों का आयोजन भी हुआ। मंदिर एवं पुलिस प्रशासन द्वारा माकूल व्यवस्था व इंतजाम के चलते दर्शन प्रारंभ हुए। वही बाबा के दरबार 36 घंटे खुले रहेंगे । सभी शिवालयों में बड़ी संख्या में महिलाओं ने बड़ी बत्तियां लगाकर पुण्य लाभ लिया। सभी धार्मिक मंदिरों को आकर्षक विद्युत सज्जा एवं कुशवाहा रोड से सजाया गया और मेवा मिष्ठान का भोग लगाया गया।

यह भी पढ़ें…..MP News :विधानसभा में पप्पू, मामू, बंटाधार जैसे शब्दों पर बैन, स्पीकर ने लगाई ऐसे शब्दों पर रोक

पुण्य सलिला मां नर्मदा के तट द्वादश ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर ममलेश्वर में शिवरात्रि महापर्व पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु रात्रि से पहुंचे। मंदिर ब्रह्मा मुहूर्त मे चार बजे मंदिर दर्शन के लिए खोले गए। प्रशासन के निर्देश पर स्थानीय प्रशासन द्वारा माकूल व्यवस्थाओं के इंतजाम के चलते श्रद्धालु नर्मदा स्नान एवं दर्शन ब्रह्म मुहूर्त में प्रारंभ हुआ। षड्दर्शन संत मंडल ने महानिर्वाणी अखाड़े में एकत्रित होकर ओंकारेश्वर के सभी बड़े-छोटे अखाड़ों के बड़ी संख्या में संत भक्त ढोल ठमाके के साथ भोले-शंभू , भोलेनाथ जय घोष करते हुए बाबा के दरबार पहुंच कर शिव पर जलाभिषेक कर सुख-समृद्धि देश प्रदेश में बनी रहे प्रार्थना की। ॐ आकार की ओंकार पर्वत की परिक्रमा का लुफ्त भी शिव भक्तों ने उठाया। अनेक अखाड़ों में फलाहारी भंडारी का आयोजन किया गया शिवालयों में महिलाओं ने बत्तियां लगाकर भजन कीर्तन का लाभ लिया।

ओंकारेश्वर में उमड़ा श्रद्धालुओं का जनसैलाब, 36 घंटे खुला रहेगा मंदिर

थानाप्रभारी शिवराम जमरा, तहसीलदार उदय मंडलोई, मंदिर ट्रस्ट के आशिष दिक्षित, सीएमओ मोनिका पारधी व अन्य अधिकारियों ने व्यवस्थाओं की कमान संभाली। संतो ने बाबा भोलेनाथ के प्रमुख दिन जन्मदिन पर सभी भक्तों को आशीर्वाद प्रदान किया तथा देश प्रदेश सुख समृद्धि की ओर बढ़े प्रार्थना की। प्रति वर्ष अनुसार अन्नपुर्णा आश्रम में स्वामी श्री सच्चिदानंद गिरी जी महाराज के सानिध्य में साधु-संत सेवा समिति इंदौर छावनी के भक्तों द्वारा 11 बजे से फलाहारी भंडारा प्रारंभ किया। जिसमें दूर-दूर से आए भक्तों ने दिनभर फलहारी भंडारे का लुफ्त उठाया।

जिला प्रशासन के निर्देश पर रही व्यवस्था
खंडवा कलेक्टर (Khandwa Collector) पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर शिवरात्रि महापर्व के दौरान आए श्रद्धालुओं की व्यवस्थाओं के पुख्ता इंतजाम अधिकारियों द्वारा किए गए। इसी प्रकार मोरटक्का खेड़ी घाट पर बड़ी संख्या में नर्मदा स्नान के लिए श्रद्धालु पहुंचे। ओंकारेश्वर सिविल अस्पताल में डॉ रवि वर्मा के द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर लगभग 5 प्रमुख स्थानों पर कैंप लगाए गए। जिसमें श्रद्धालुओं को मार्क्स वितरण सेनीटाइजर के साथ अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई। बस स्टैंड प्रवेश करते ही लगाएं केम्प में सीमा सिंह,अनीता कर्मा रेखा नामदेव प्रीति कर्मा के अलावा अन्य स्टाफ व्यवस्था में लगा रहा।

यह भी पढ़ें…..Datia: शिव मंदिर पर दर्शन कर लौट रही युवती को सांप ने डसा, प्रसाद चढ़ाते वक्त हुआ हादसा