Omkareshwar News: सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल ने CM से की मुलाकात, विकास कार्यों को लेकर हुई चर्चा

Sanjucta Pandit
Published on -
CM Shivraj

Omkareshwar News : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दो दिवसीय ओंकारेश्वर दौरे पर थे। इस दौरान सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल ने सीएम से मुलाकात कर विकास कार्यों के संबंध में विस्तृत चर्चा की। सांसद ने मुख्यमंत्री से यहां संस्कृत महाविद्यालय खोलने का अनुरोध किया है। जिसको लेकर सीएम ने गुरुकुल संस्थान का बहुत जल्द निर्माण होने का आश्वासन दिया।

Omkareshwar News: सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल ने CM से की मुलाकात, विकास कार्यों को लेकर हुई चर्चा

किसानों की समस्या का निराकरण

साथ ही, सांसद ने क्षेत्र के किसानों की समस्या से भी रुबरु करवाया। उन्होंने बताया कि नहरों का विकास एवं उनका मेंटेनेंस जरूरी है क्योंकि हर साल नहरों में गाद जमा होती है, जिसकी साफ-सफाई हो जाने पर उन्हें पुनः सुदृढ़ बनाने के लिए अतिरिक्त राशि की आवश्यकता होती है। किसानों की मांगों को लेकर लेकर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि उनकी समस्याओं का जल्द-से-जल्द निराकरण किया जाए।

Omkareshwar News: सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल ने CM से की मुलाकात, विकास कार्यों को लेकर हुई चर्चा

सांसद ने किया ये आग्रह

साथ ही, सांसद पाटिल ने मुख्यमंत्री से एक विशेष आग्रह करते हुए ओंकारेश्वर पर्वत और सिध्वरकूट के बीच एक पुल निर्माण कराने के लिए पत्र दिया, जिसमें बताया कि इससे यहां आने वाले श्रद्धालुओं को आवागमन में सुविधा होगी और सालभर चलने वाले त्योहारों पर दर्शनार्थियों के आवागमन को व्यवस्थित रूप से नियंत्रित करने में स्थानीय प्रशासन को भी सहयोग मिलेगा।

ये लोग रहे मौजूद

इस इस दौरान विधायक नारायण पटेल, सांसद समन्वय जितेन सुराणा, जिला पंचायत अध्यक्ष कंचन मुकेश तनवे, भाजपा नेता विजय सिंह तोमर, बृजेश यादव, दीपक पटेल मंडल, अध्यक्ष जगदीश शंकरिया समेत भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

खंडवा से सुशील विधाणी की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News