MP News : नहर में कैसे डूबी साध्वी ऋतम्भरा के आश्रम की 6 बालिकाएं, 4 की मौत

जिसमें से 2 बालिकाओ को स्थानीय ग्रामीण ने डुबने से बचा लिया। 4 की गहरे पानी मे चले जाने से मौत हो गई।

खंडवा,सुशील विधाणी। साध्वी ऋतुंभरा (sadhvi ritambhara) के संविद गुरुकुलम आश्रम में रह रहीं कक्षा 5 वी की 4 बालिकाओं की नहर में नहाने के दौरान मौत हो गई। ओंकारेश्वर बांध की नहर में नहाने के दौरान ये हादसा हुआ। वहीं दो बालिकाओं को लोगों की मदद से सकुशल बचा लिया गया। इस हृदय विदारक हादसे से क्षैत्र में मातम पसर गया। चारों बालिकाएं खरगोन, बडवानी एंव भीकनगांव जिले की रहने वाली थीं। वे यहां काफी समय से आश्रम में रह रही थीं। एक-दूसरे को बचाने की कोशिश में बालिकाएं नहर में डूबीं। ओंकारेश्वर क्षेत्र स्थित ग्राम कोठी में साध्वी ऋतंभरा का संविद गुरुकुलम आश्रम है।

यह भी पढ़े…कमाल के फीचर्स के साथ Honda Gold Wing Tour लॉन्च, कीमत इतनी की आप हो जाएंगे हैरान

आश्रम के बिच में से ही ओंकारेश्वर डेम की बडी नहर गुजर रही हैं। नहर किनारे छोटे छोटे घाट बने हुये है। इन्हीं घाटों में से एक घाट आश्रम से बिल्कुल सटकर बना है जिसमें यहां आज सुबह 6 बजे 11 बालिकाएं नहाने गई थीं। ये सभी रेलिंग से बंधी सांकल पकड़कर नहा रही थीं। जिसमें से 5 बालिकाये नहाकर लौट चुकी थी तथा 6 वही नहा रही थी। तभी एक बालिका के हाथ से सांकल छूट गई। वह नहर के तेज बहाव में बहने लगी। उसे नहर में डूबता देख एक बालिका नहर में कूदी। उसे बचाने के प्रयास में वह भी डूबने लगी। यह देखकर घाट पर नहा रहीं चार बालिकाएं भी दोनों को बचाने के लिए नहर में कूद गईं।इस तरह से एक के बाद एक 6 बालिकाएं नहर में डूबने लगीं। जिसमें से 2 बालिकाओ को स्थानीय ग्रामीण ने डुबने से बचा लिया। 4 की गहरे पानी मे चले जाने से मौत हो गई।

यह भी पढ़े…MP News : 18 साल के युवक ने काटा कटर से गला, पुलिस जांच मे जुटी, युवक का इलाज जारी।

“शोर सुनकर लोग बचाने दौड़े”
नहर में डूबती बालिकाओं की चीत्कार सुनकर आश्रम के लोग उन्हें बचाने दौड़े, उन्होंने पुलिस को भी घटना की जानकारी दी। इसके बाद मांधाता तहसीलदार उदय मण्डलोई एवं पुलिस अधिकारी ओंकारेश्वर नाविक संघ के गोताखोर लेकर बालिकाओं को बचाने के लिए आए। ग्रामीण और गोताखोरों की मदद से एक घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन कर नहर में डुबी चारो बालिकाओं के शव नहर से निकालकर शव वाहन से चारो शव ओंकारेश्वर अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिये पंहुचाया।

“इन बालिकाओं की हुई मौत”
1. वैशाली पिता नवल (12 वर्ष) ग्राम बड़िया जिला भीकनगांव
2. कंचन रमेश (11 वर्ष) ग्राम सोमवाडा जिला भीकनगांव
3. प्रतीक्षा छनिया (12 वर्ष) ग्राम दाभड़ सनावद जिला खरगोन
4. दिव्यांसी चेतक (10 वर्ष) ग्राम इंद्रपुर रहतिया जिला बड़वानी,
शवों का ओंकारेश्वर अस्पताल में पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौप दिये गये हैं। पुलिस मामले की जाँच में जूटी।

यह भी पढ़े…MP News : 18 साल के युवक ने काटा कटर से गला, पुलिस जांच मे जुटी, युवक का इलाज जारी।

छात्रा सरस्वती ने आपबीती बताते हुए कहा की हम सभी सुबह 6:30 बजे रोज की तरह पास ही में नहर किनारे नहाने गये मैरे साथ 5 और लडकीयां थी,हम सभी नहा रहे थे तभी एक लड़की का सिढियो से पैर फिसला और वो डुबने लगी तभी उसे बचाने ओर लड़कीयां कुद गई जिसमे से मुझे थोडा-थोडा तैरना आता था, तो मैं पानी के उपर ही बहती रही तभी एक भैया ने मुझे देखा और बचा लिया।बाकी चारों लड़कीयां पानी मे डूब गई।