MP उपचुनाव : ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर यह क्या बोल गए नारायण पटेल, वीडियो वायरल

नारायण पटेल ने मीडिया के सामने यह तक कह डाला कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास इतनी संपत्ति है कि आधी कांग्रेस (Congress) क्या, पूरी कांग्रेस ही खरीद लें।

narayan patel

खंडवा, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में 28 सीटों पर उपचुनाव (by-elections) होना है,  जैसे जैसे चुनावों की तारीख नजदीक आती जा रही है वैसे वैसे राजनीति (Politics) में भाषा का स्तर नीचे गिरता जा रहा है। वोटों और समर्थकों को लुभाने नेता बेतुके बयान दे रहे है जो मीडिया (Media) में सुर्खियां बन रहे है। अब खंडवा जिले की मांधाता विधानसभा सीट (Mandhata Assembly Seat) से बीजेपी प्रत्याशी नारायण पटेल (BJP candidate Narayan Patel) का विवादित बयान सामने आया है।

उन्होंने दावा किया है कि राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) पूरी कांग्रेस खरीद सकते है।पटेल का यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसको लेकर ट्वीटर पर यूजर्स खूब चुटकी ले रही है वही इस वायरल वीडियो से बीजेपी में हड़कंप मच गया है। आशंका जताई जा रही है कि उपचुनाव से पहले यह दावा कही कांग्रेस को फायदा और बीजेपी को नुकसान ना पहुंचा दे वही सिंधिया की छवि पर भी असर डाल सकता है।चुंकी कांग्रेस सिंधिया के खिलाफ भू माफिया का मोर्चा खोले हुए है।

दरअसल, पुनासा में नामांकन रैली के दाैरान कांग्रेसियों के ‘बिकाऊ नहीं टिकाऊ विधायक’ चाहिए के नारे से भाजपा प्रत्याशी नारायण पटेल इतना भड़क गए कि और उन्होने मीडिया के सामने यह कह डाला कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास इतनी संपत्ति है कि आधी कांग्रेस (Congress) क्या, पूरी कांग्रेस ही खरीद लें। पटेल इतने पर भी नही रुके और आगे कहा कि इनके पास कोई मुद्दा नहीं है,तो ये ऐसी बातें कर रहे हैं। 15 माह में कोई विकास तो नहीं किया, इनके खिलाफ हमारे 25 विधायकों ने इस्तीफा दिया। हमारे सिंधिया के पास इतनी संपत्ति है कि आधी क्या वे पूरी कांग्रेस खरीद लें। इतनी बड़ी स्टेट है उनकी।

गौरतलब है कि मंधाता विधानसभा से कांग्रेस विधायक रहे नारायण पटेल ने जुलाई में इस्तीफा देकर भाजपा ज्वाइन कर ली थी, उन्होंने अपना इस्तीफा प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा (Protem Speaker Rameshwar Sharma) को सौंपा था। पटेल ने आरोप लगाया था कि भाजपा परिवार में शामिल होकर खुशी महसूस कर रहा हूं। कांग्रेस सरकार के 15 महीनों के शासन में कार्यकर्ता उपेक्षित महसूस कर रहे थे। देश और प्रदेश में भाजपा सरकारों के काम करने की शैली अलग है। मध्यप्रदेश में शिवराज ने विकास की गंगा बहाई है। मेरे अपने क्षेत्र में भी भाजपा सरकार ने अनेक विकास कार्य और परियोजनाएं शुरू की हैं। उसी को देखते हुए मैंने स्वेच्छा से भाजपा की सदस्यता ली है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here