आज 151 लीटर दूध से होगा मां नर्मदा का अभिषेक

खंडवा। सुशील विधानि।

तीर्थ नगरी ओंकारेश्वर में जय मां नर्मदा युवा संगठन और श्रीजी मंदिर संस्थान द्वारा 25 जनवरी से मां नर्मदा जन्मोत्सव धूमधाम मनाया जा रहा है। मुख्य दिवस 1 फरवरी को खेड़ीघाट से ओंकारेश्वर के बीच नर्मदा नदी में हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की जाएगी। इसके साथ ही बड़ी संख्या में श्रद्धालु माँ नर्मदा को चुनरी अर्पित करेंगे। महोत्सव के दौरान प्रतिदिन विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। नर्मदा जयंती उत्सव मनाने के लिए केवलराम घाट पर स्थाई मंच बना हुआ है। जय मां नर्मदा युवा संगठन द्वारा इस मंच में धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

समाजसेवी सुनील जैन ने बताया कि महोत्सव के दौरान प्रतिदिन पूजन पाठ के अलावा शाम 7.00 बजे शुद्ध घी से बने हलवे का प्रसाद भी वितरण किया गया। मुख्य दिवस 1 फरवरी को दोपहर 12.00 बजे से 151 लीटर दूध से मां नर्मदा का दूध अभिषेक किया जाएगा। नर्मदा जयंती पर विगत बारह वर्षो से छोटे सरकार के हेैलीकाप्टर से दोपहर 12 बजे आरती के समय दादा दरबार खेड़ी घाट से ओंकारेश्वर तक हेलीकॉप्टर द्वारा पुष्प वर्षा की जाती है। मां नर्मदा जयंती के अवसर पर शनिवार को खेड़ीघाट दादा दरबार से पूजा अर्चना कर हैलीकाप्टर द्वारा खेड़ीघाट एवं ओंकारेश्वर तक पुष्पवर्षा की जाएगी। मां नर्मदा के साथ ही मंदिरों पर भी पुष्पवर्षा होगी। इस वर्ष खंडवा के समाजसेवी सुनील जैन हैलीकाप्टर से मां नर्मदा को पुष्प अर्पित कर पूजन करेंगे। पूर्व में हैलीकाप्टर से छोटे सरकार के साथ ही देश के बड़े संतों द्वारा भी पुष्पवर्षा की जा चुकी है। दोपहर 12.00 से 3.00 बजे तक जेपी चौक पर पूड़ी सब्जी और लड्डू का भंडारा आयोजित होगा। शाम 4.00 बजे जेपी चौक से शोभायात्रा नगर में निकाली जाएगी। शाम 7.30 बजे मां नर्मदा की काकड़ा आरती के साथ ही नर्मदा के मुख्य घाटों पर आरती होगी। साथ ही नर्मदा नदी में सवा लाख दीपदान किए जाएंगे और आतिशबाजी की जाएगी। आयोजन की समाप्ति के बाद संगठन द्वारा हलवा प्रसादी का वितरण भी किया जाएगा। इधर श्रीजी मंदिर संस्थान की ओर से कोटि तीर्थ घाट पर मां नर्मदा जन्मोत्सव के सभी धार्मिक आयोजन मंदिर के प्रमुख ट्रस्टी रावदेवेंद्र सिंह के सानिध्य में पंडित पुजारी द्वारा संपन्न किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि तीर्थ नगरी ओंकारेश्वर में वर्ष 1990 से जय मां नर्मदा युवा संगठन द्वारा नर्मदा के तट पर दीपदान के साथ ओंकार पर्वत पर महाकांकड़ा आरती का आयोजन किया जा रहा है। इस मनोरम दृश्य को देखने के लिए हजारों श्रद्धालु तीर्थ नगरी पहुंचेंगें। सम्पूर्ण प्रदेश से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का जमावड़ा तीर्थ नगरी में होता है। इसी तरह नर्मदा के तट पर चक्रतीर्थ घाट, ब्रह्मपुरी घाट, ओंकार घाट, बफार्नी धाम घाट, संगम घाट, नागर घाट, अभय घाट, मठ, मंदिर, आश्रमों में भी दिन भर माँ नर्मदा का पूजन अभिषेक का सिलसिला जारी रहेगा। सभी धार्मिक संस्थाओं द्वारा धार्मिक स्थानों पर भंडारों के बाद शाम को आरती होगी। इसके पश्चात हलवा प्रसादी का वितरण किया जाएगा।