तीर्थ नगरी बनी सटोरियों का अड्डा

खंडवा| सुशील विधानी|  कहने को तो तीर्थ नगरी ओमकारेश्वर पवित्र नगरी मानी जाती है लेकिन तीर्थ नगरी अवैध गतिविधियों का गढ़ बनती जा रही है ओमकारेश्वर तीर्थ नगरी में खुलेआम सट्टा  चल रहा है| यहां चलाने वाला सट्टा कारोबारी पूनम शुक्ला को छोड़ अन्य किसी पर दिखावे की कार्रवाई का 1 एपिसोड चल चुका है क्या जिला बदर की कार्रवाई को भी इसकी विराम दे दिया गया है | सूत्रों द्वारा पता लगा कि ₹700000 में जिला बदर की कार्रवाई रोकी गई है और इस व्यापारी का व्यापार महेश्वर मंडलेश्वर ओमकारेश्वर में जुए खाने पुलिस स्टेशन से 200 मीटर की दूरी पर ही है परंतु इस पर कार्रवाई क्यों नहीं हुई देखा जाए तो तीर्थ नगरी होना इस प्रकार की गतिविधियों का अड्डा बनता जा रहा है वहीं राज्य प्रशासन हमेशा कहता है कि तीर्थ नगरी में अच्छी से अच्छी व्यवस्था की जाएगी लेकिन तीर्थ नगरी मैं जुआ सट्टा अवैध शराब अनैतिक गतिविधियों दिनों दिन बढ़ती जा रही है इस विषय में जब हमने खंडवा पुलिस अधीक्षक शिवदयाल सिंह से बात करने पर बताया गया अवैध कारोबारियों पर कार्रवाई की जा रही है पूर्व की कार्रवाई को भी हमने जिला बदर की प्रोसेस पर है और दोबारा जो कारोबार स्टार्ट हैं और जो छोटे हैं उन पर भी कार्रवाई होगी|