तारक मेहता का उल्टा चश्मा के ‘अब्दुल’ पहुंचे खंडवा, बोले- दादा को मिले भारतरत्न

खंडवा। सुशील विधानी| एक निजी कार्यक्रम में  शामिल होने पहुंचे टीवी सीरियल कलाकार तारक मेहता का उल्टा चश्मा के अब्दुल उर्फ शरद सांखला ने हरफनमौला कलाकार किशोर कुमार की समाधि पर माथा टेक पुष्प अर्पित किए। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि किशोर कुमार को भारत रत्न मिलना चाहिए क्योंकि एक ऐसा कलाकार जिन्होंने गायन ही नहीं हरफन में अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए जन्म माटी का नाम देश-विदेश में रोशन किया। साथ ही प्रदेश एवं केन्द्र की सरकार से मैं अनुरोध करता हूं कि किशोरदा जिन्होंने खंडवा की माटी में जन्म लिया और उनका जो पुश्तैनी मकान है जो आज जर्जर अवस्था में है उसे सरकार लेकर एक स्मारक के रूप में स्थापित करें ताकि उनकी स्मृति को इस स्मारक में संजो कर रखा जा सके। मैं महाराष्ट्र सरकार से भी मांग करूंगा कि किशोरदा का जो पुश्तैनी मकान है उसे सरकार ठीक कर किशोर दा की यादें को जिंदा रखें। मुंबई जाकर हमारे कलाकार एसोसिएशन के मेंबरों से भी चर्चा कर किशोर दा के पुश्तैनी मकान को स्मारक बनाने का अनुरोध करूगां। सांखला ने कहा कि हम सब गोकुलदास सोसाइटी में हिंदू-मुस्लिम सभी एक साथ एक परिवार की तरह रहते हैं। आप सब भी देश में इसी तरह रहिए और एक बार गोकुलधाम सोसाइटी में जरूर आइए जहां हिंदुस्तान बसता है। मैं भाग्यशाली हूं जो किशोर दा की नगरी खंडवा में आने का मुझे मौका मिला।

समाजसेवी सुनील जैन ने बताया कि रविवार को एक स्कूल के वार्षिक उत्सव में भाग लेने खंडवा पहुंचे टीवी कलाकार अब्दुल उर्फ शरद सांखला दोपहर में किशोरदा की समाधि पर पहुंचे और मत्था टेक कर पुष्पांजलि अर्पित कर गीतों के साथ अपने सीरियल के डायलॉग भी सुनाई। उन्होंने कहा कि तारक मेहता उल्टा चश्मा के पूर्व वंश फिल्म में भी मैंने किरदार निभाया है और ईश्वर से यही अनुरोध करता हूं कि जो सीरियल समाजसेवा का संदेश दे रहा है वह सदैव चलता रहे। टीवी सीरियल कलाकार अब्दुल उर्फ शरद सांखला ने किशोरदा की समाधि पर किशोर कुमार को आते जाते हुए मैं सब पर नजर रखता हूं नाम अब्दुल है मेरा सबकी खबर रखता हूं गीत गाकर उन्हें याद किया। अब्दुल ने कहा कि किशोर कुमार फिल्मी दुनिया का एक ऐसा सितारा था जिसे आज भी पूरा देश याद करता है मुझे बहुत अच्छा लगा यहां आकर। हिन्दुस्तान की संस्कृति समाजवाद की रही है और यहां जाति और समाज नहीं संस्कृति को महत्व दिया जाता है। तारक मेहता उल्टा चश्मा के कलाकार शरद सांखला ने कहा कि इतने लंबे समय से मैं सीरियल में अब्दुल का किरदार निभा रहा हूं, सभी लोग मुझे अब्दुल ही समझते हैं। लेकिन मेरा नाम  शरद सांखला है। हमारे कलाकारों की दुनिया में कोई मजहब नहीं होता हम सब एक हैं।  उन्होंने अपने टीवी सीरियल के बारे में बताते हुए कहा  कि भागदौड़ भरी इस जिंदगी में आप तारक मेहता का उल्टा चश्मा सीरियल परिवार के साथ देख सकते है। इसमें आपको अपने बच्चों के लिए एक मैसेज मिलता है, जो हमारे बच्चों को हम सिखा सकते हैं और हंसा सकते हैं। किशोर कुमार हमारे मार्गदर्शक हैं उन्हीं को देख हम बड़े हुए हैं और टीवी में आए, उन्हीं की तरह बनकर हम जाना चाहते हैं।  समाधि पर किशोर सांस्कृतिक प्रेरणा मंच के प्रवक्ता सुनील जैन,  व पवन अग्रवाल ने श्री सांखला का स्वागत किया।