शिवराज का कमलनाथ पर वार, कहा-भाषण कम देते है और ट्विटर-ट्विटर ज्यादा खेलते हैं नाथ

सीएम ने कहा कि कांग्रेस के नेता आते है भाषण फटकारते हैं, और कमलनाथ जी भाषण कम देते है और ट्विटर ट्विटर ज्यादा खेलते हैं। रोज मुझे ट्वीट करते रहते हैं, इनसे पूछे तो, तुमने कितनी सिंचाई की योजना बनाई।

सीएम शिवराज

खंडवा, सुशील विधानी। मध्यप्रदेश (MP) में उपचुनाव (By-Election) को लेकर चुनाव प्रचार जोरों-शोरों पर है। सभी पार्टियां लगातार दौरे कर जनसभाएं कर रही है इसी बीच सीएम शिवराज (CM Shivraj) बड़वाह पंधाना विधानसभा में छैगांव माखन में आयोजित जनसभा कार्यक्रम में पहुंचे। जहां उन्होंने सरकार की कई योजनाओं के बारे में जनता से विचार साझा किए, वहीं कांग्रेस (Congress) और कमलनाथ (Kamal Nath) पर भी जमकर निशाना साधा।

यह भी पढ़ें…अंधविश्वास में कलयुगी भतीजे की करतूत, डायन के शक में चाची को उतारा मौत के घाट

सीएम ने कहा कि खंडवा और निमाड़ क्षेत्र में खेतों तक सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था का जो जाल बिछा है, उसके एकमात्र सूत्रधार हैं हम सभी के प्यारे नंदकुमार सिंह चौहान “नंदू भैया। जनता को पानी चाहिए, विकास चाहिए और गरीब कल्याण की योजनाएं चाहिए, लेकिन कमलनाथ बात करते हैं भाजपा की महिला नेत्रियों की। कमलनाथ तो हर बात पर पैसे का रोना रोते रहे, कोई विकास कार्य नहीं किया। हमने कोरोना की दोनों लहर में 8 महीने तक प्रदेश में गतिविधियां ठप होने के बावजूद विकास के काम पर आंच नहीं आने दी, जबकि खजाने में एक भी रुपया नहीं आया।

शिवराज ने आगे कहा कि कांग्रेसी डोकरा, डोकरिया, एक्टर और डायरेक्टर जैसी निरर्थक बातें कर रहे हैं। क्या ये जनता के कल्याण के मुद्दे हैं? कमलनाथ जी कहते हैं कि शिवराज जेब में नारियल लेकर घूमता है और जहां-तहां फोड़ता रहता है। मैं विकास के काम करता हूं, तो नारियल फोड़ता हूं, उनकी तरह पैसा के अभाव का रोना नहीं रोता हूं। कमलनाथ जी ने किसानों को कर्जमाफी के नाम पर डिफाल्टर बना दिया, बेरोजगारी भत्ता के नाम पर युवाओं को छला और विवाह योजना का भी उनका पैसा नहीं आया, बेटियों की गोद में भांजे-भांजी आ गये।

शिवराज का कमलनाथ पर वार, कहा-भाषण कम देते है और ट्विटर-ट्विटर ज्यादा खेलते हैं नाथ

सीएम ने कहा कि कांग्रेस के नेता आते है भाषण फटकारते हैं, और कमलनाथ जी भाषण कम देते है और ट्विटर ट्विटर ज्यादा खेलते हैं। रोज मुझे ट्वीट करते रहते हैं, इनसे पूछे तो, तुमने कितनी सिंचाई की योजना बनाई। दिग्विजय सिंह जब मुख्यमंत्री हुआ करते थे उन्होंने कितनी सिंचाई की योजना बनाई। यही राजनारायण सिंह जी दिग्गी राजा को पुनासा ले कर आए थे जोरदार, धुआधार स्वागत, स्वगतवार, जयजयकार, फिर उसके बाद खड़े हुए। पुनासा लिफ्ट इरिगेशन योजना बना लो, दिग्गी राजा ने बोला इंपॉसिबल फालतू की बातें करते हो। काहे की सिंचाई योजना, कहां से पानी आयेगा, कहां से पैसा लाऊंगा, ये दिग्विजय सिंह कहते थे, ये कांग्रेस के नेता कहते थे।

कोरोना काल में स्ट्रीट वेंडर्स को परेशानी हुई। हमारी सरकार उन्हें बिना ब्याज के बैंकों से 10 हजार तक का ऋण दिलाएगी। ब्याज की राशि का भुगतान हमारी सरकार करेगी। हमने 2018 में तय किया कि पोषण आहार बहनें बनायेंगी, ताकि इनकी आमदनी बढ़ सके, लेकिन सत्ता में आते ही कमलनाथ ने इसे ठेकेदारों को दे दिया। मैंने सरकार बनते ही फिर तय कर दिया कि पोषण आहार तो हमारी बहनें ही बनायेंगी। आप सबसे निवेदन करने आया हूं कि भारतीय जनता पार्टी को अपना आशीर्वाद देकर ज्ञानेश्वर पाटिल को भारी मतों से विजयी बनाइये और विकास एवं जनकल्याण की जिम्मेदारी मुझ पर छोड़ दीजिये।

यह भी पढ़ें…किचन में रखी थी चूहे मारने की दवाई, गलती से खाकर शिक्षक ने जान गंवाई