अगर हार्ट अटैक से है बचना तो जरूर पढ़े यह खबर

हार्ट अटैक की संभावना को कम करने के लिए गोल्डन पीरियड है

खंडवा, डेस्क रिपोर्ट। हाल ही में मध्यप्रदेश के सागर जिले के सीएमएचओ डॉ. देवेंद्र गोस्वामी का सफर के दौरान हार्ट अटैक आने से उनका निधन हो गया। अगर उस समय उनके पास दवाईयां उपलब्ध होती तो उनकी जान बच सकती थी। ऐसा खंडवा (Khandwa) CMHO डॉ. शरद हरणे ने जिले के मेडिकल ऑफिसर्स से किए एक पत्राचार में किया है। उन्होंने सभी मेडिकल ऑफिसर्स से कहा कि, कुछ दवाईयां अपने साथ रखें, इससे हार्ट अटैक की संभावना को 3 घंटे तक टाला जा सकता है, जो कि गोल्डन पीरियड समय होता है।

हृदय घात की संभावना तब बन सकती है, जानिए यह है प्रमुख लक्षण

जब छाती में दर्द, पसीना, घबराहट, सांस फूलना, कंधे, गर्दन या पीठ में दर्द। ये ह्रदयघात के प्रमुख लक्षण है।

ये दवाएं साथ रखने के निर्देश

1. Asprin- 300

2. Clopidogrel- 300

3. Atorvastatin 80 mg

4. Sorbitrate SL -5mg. 10mg

गौरतलब है कि ह्रदयघात से बचने के लिए ये दवाएं साथ रखना जरुरी है। ताकि इनके तत्काल सेवन से ह्रदयघात की संभावना को कम किया जा सकें। इन दवाओं से ह्रदयघात की संभावना को कम से कम तीन घंटे तक टाला जा सकता है। जो कि हार्ट अटैक की संभावना को कम करने के लिए गोल्डन पीरियड है।

अगर हार्ट अटैक से है बचना तो जरूर पढ़े यह खबर