अस्पताल के बेड पर पड़ी घायल दुल्हन की मांग भर दूल्हे ने की शादी

इस अनोखी शादी के गवाह बने अस्पताल का स्टाफ और डाक्टर्स। यह शादी सुर्खियों में छा गई। 

Khandwa -Marriage in Hospital : खंडवा में एक अनोखी शादी चर्चा का विषय बन गई, आम तौर पर  शादी का खयाल आते ही बड़ा स मंडप, ग्राउन्ड और भराई भीड़ और तरह तरह के पकवान सामने नजर आते है, लेकिन शादी हो और दुल्हन अस्पताल के बेड पर हो और दूल्हा चंद लोगों के साथ अस्पताल पहुंचा हो तो सुनकर अजीब लगेगा लेकिन मध्यप्रदेश के खंडवा में ऐसा ही नज़ारा सामने आया जब बेड पर घायल दुल्हन की मांग भरने दूल्हा अस्पताल पहुंचा, इस शादी के घराती और बाराती बने डाक्टर्स और अस्पताल स्टाफ। अस्पताल के वार्ड में दूल्हा-दुल्हन एक-दूसरे को माला पहनाकर हमेशा-हमेशा के लिए एक-दूसरे के हो गए हैं।

शादी के तारीख से तीन दिन पहले दुल्हन हुई दुर्घटना में घायल 

दरअसल राजेंद्र का विवाह जुलवानिया की शिवानी से तय हुआ था। शादी की तय तारीख के अनुसार 16 फरवरी को राजेन्द्र और शिवानी दोनों फेरे लेने वाले थे, लेकिन उसके पहले 13 फरवरी को शिवानी को किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी।  हादसा उस समय हुआ जब शिवानी अपने घर से दुकान पर कुछ सामान लेने जा रही थी। इस हादसे में शिवानी का एक पैर और हाथ बुरी तरह से जख्मी हो गए, उसे परिवार ने बड़वानी के जिला अस्पताल में भर्ती कराया, यहां उपचार को लेकर संतुष्ट नहीं होने पर परिवार शिवानी को खंडवा ले आया।

अस्पताल में तय तारीख को की शादी   

यहाँ भर्ती शिवानी के हाथ का आपरेशन हुआ, शिवानी को किसी भी कीमत पर डाक्टर्स ने अस्पताल से डिस्चार्ज करने से इंकार कर दिया उसकी हालत बेहतर नहीं थी जिसके बाद घरवालों ने फैसला किया कि शादी होगी और अस्पताल में ही होगी इसके बाद तैयारियां शुरू की गई, डाक्टर्स की अनुमति ली गई, अस्पताल में शादी की तैयारियां सुबह से शुरु हो गई थीं, यहां जनरल वार्ड में भर्ती शिवानी को दुल्हन का जोड़ा पहनाया गया,परिवार के लोगों ने बेड को एक मंडप की तरह सजा दिया, इसके बाद दोपहर मुहूर्त में पंडित ने राजेंद्र और शिवानी को विवाह बंधन में बांधा, राजेंद्र ने पहले शिवानी को माला पहनाई, शिवानी ने भी एक हाथ से उसे माला पहनाई, इसके साथ ही राजेंद्र ने शिवानी की मांग भी भर दी। इस अनोखी शादी में अस्पताल स्टाफ और डाक्टर्स शामिल हुए। यह शादी सुर्खियों में छा गई।