पीएनबी के हेड कैशियर के घर चोरों का धावा, सिर पर रॉड मारकर की लूटपाट

खंडवा। सुशील विधानि।

शहर के नारायण नगर में रविवार देर रात अज्ञात लुटेरों ने पीएनबी के हेड कैशियर के घर धावा बोला। देर रात करीब 2 से 2:30 बजे के बीच लुटेरों ने पहले घर में घुसकर हेड कैशियर की रॉड से पीटाई की उसके बाद घर में लूटपाट मचा दी। लुटेरों ने कैशियर की पत्नी से भी झूमाझपटी की, पहले उन्होंने उसके गहने मांगे, नहीं देने पर झूमाझटकी कर सोने की चेन और कंगन छीन लिए। इसके बाद बदमाशों ने अलमारी में रखे वहां से तीन लाख रुपए नकद और गहने ले कर फरार हो गए। लुटेरों के जाने के बाद परिवार ने पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर वारदात करने वाले तीन बदमाश और उनके चौथे साथी की तलाश कर रही है। 

जानकारी अनुसार पंजाब नेशनल बैंक शाखा निगम चौक में हेड कैशियर जगदीश वानखेड़े ( 58 ) नारायण नगर स्थित निवास पर अपनी शिक्षिका पत्नी अलका वानखेड़े ( 54 ) के साथ कमरे में सोये थे। पीएनबी सिविल लाइन में रिकॉर्ड कीपर उनका बेटा शुभम वानखेड़े अपने बैंक सहकर्मी अनमोल गुप्ता के साथ दूसरे रूम में था। इस दौरान रात 2 बजे तीन नाकाबपोश लुटेरे बाउंड्रीवाल फांद कर उनके घर में घुसे। बदमाशों ने पहले घर में लगे सीसीटीवी कैमरें पर कपड़ा डाल दिया और पीछे के दरवाजे की कुंडी पत्थर व रॉड से तोड़ दी। अंदर पहुंचने के बाद लुटेरों ने सबसे पहले बेटे शुभम के कमरे को बाहर से बंद कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने दूसरे कमरे में सो रहे हेड कैशियर जगदीश को जगाया और घर में रखे नकद रुपयों व गहनों की पूछताछ करने लगे। लुटेरों को देखकर घबराए जगदीश वानखेड़े ने चिल्लाने की कोशिश की तो लुटेरों ने उनके सिर पर रॉड दे मारी। चोट लगने से हैड कैशियर जगदीश खून से लथपथ हो गए। आवाज सुनकर बाजू में सो रही पत्नी अलका भी जाग गई। लुटेरों ने उन्हें चुप रहने को बोला और झूमाझटकी कर गले से चेन, हाथ से अंगूठी व कंगन छीन लिए। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश जाते समय बाहर से दरवाजा बंद कर गए और दो मोबाइल भी साथ ले भागे। करीब दस मिनट तक लुटेरों ने घर में लूटपाट की। लुटेरों के जाने के बाद जगदीश की पत्नी ने बेटे को आवाज दी। आवाज सुनकर बेटा जागा और किसी तरह खिडक़ी से दूसरे कमरे तक पहुंचा। आवाज सुनकर पड़ोसी भी पहुंच घर पर पहुंच गए। परिजनों ने तुरंत घायल जगदीश को अस्पताल में भर्ती कराया और कोतवाली पुलिस को वारदात की खबर दी। बतातें चले कि पूर्व में भी इसी घर में दो बार लुटेेरे चोरी की वारदात को अंजाम दे चुके है ।

बदमाशों ने मुंह पर काला कपड़ा बांध रखा था और घर की लाइट बंद कर टॉर्च के उजाले में वारदात को अंजाम दिया। बताया जा रहा है कि घटनाक्रम के बाद आरोपी भाग गए थे, लेकिन कुछ देर बाद वापस वारदात स्थल की ओर आए थे। आसपास के लोगों ने संदिग्धों को क्षेत्र में देखा था। आरोपी वारदात के दौरान शुद्ध हिंदी और खंडवा की भाषा बोल रहे थे। उनकी उम्र करीब 30 से 32 वर्ष के बीच थी। इधर , हेड कैशियर के घर आठ सीसीटीवी कैमरे लगे हैं लेकिन कैमरे करीब तीन माह से बंद पड़े हैं। लुटेरों ने पड़ोसी के घर की भी खिडक़ी खोली थी। पड़ोसी के कैमरे भी कुछ दिनों से बंद हैं ।

इनका कहना है 

खंडवा सीएसपी ललित गठरे ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कॉलोनी में ज्यादातर कैमरे बंद है। एक ही स्थान पर कैमरे चालू थे। फुटेज खंगालने पर लुटेरे स्पष्ट नजर नहीं आ रहे हैं। कॉलोनी के पीछे खेत के रास्ते रेलवे ट्रैक की और भागने की संभावना है। साइबर टीम आरोपी सहित लूट के मोबाइलों की ट्रैकिंग कर रही है। जल्द ही आरोपी गिरफ्तार होंगे।