प्रेम संबंध के चलते पत्नी ने ही उतारा था पति को मौत के घाट, प्रेमी संग गिरफ्तार

nephew-murder-three-including-uncle-and-aunt

खंडवा।सुशील विधानी।

पिपलौद थाना क्षेत्र के भूतनी गांव में हुए कत्ल का खुलासा पिपलोद पुलिस ने आठ घंटे बाद ही सोमवार दोपहर किया । घटना के बाद पूछताछ के लिए हिरासत में लिए गए संदिग्ध आरोपी लालजी रतन व बसंत हरिराम ने ही किशन पिता रामरतन ( 26 ) की हत्या करना कुबूल किया । हत्या की साजिश रचने पर मृतक की पत्नी फूलवती को भी पुलिस ने आरोपी बनाया है । आरोपियों से पूछताछ के लिए सोमवार दोपहर एसपी विवेक सिंह पिपलौद थाना पहुंचे । उन्होंने घटनास्थल का निरीक्षण भी किया । पिपलौद थाना टीआई शिवराम झमरा ने बताया मृतक किशन की पत्नी फूलवती का उसके पड़ोसी लालजी से दो साल से प्रेम संबंध चल रहा था । किशन को संदेह होने पर वह शराब पीकर फूलवती के साथ रोज विवाद करता था । फूलवती परेशान हो गई थी । उसने प्रेमी लालजी से कहा किशन को रास्ते से हटा दो या मुझसे दोस्ती खत्म करा दो । इस पर लालजी ने किशन की हत्या की तैयारी कर ली । लालजी ने दोस्त बसंत हरिराम को भी इसमें शामिल कर लिया । 19 जुलाई की शाम बसंत और किशन ने साथ बैठकर एक – एक गिलास शराब पी । इसके बाद दोबारा पीने जा रहे थे । तभी गांव के ही एक खेत के पास सुनसान इलाके में बसंत ने किशन को टांग मारकर पटक दिया । पीछे से आरोपी लालजी आ गया । लालजी ने किशन का गला दबाया और बसंत ने पैर पकड़े । उधर मृतक किशन की पत्नी अपने प्रेमी लालजी से मोबाइल फोन पर पूछ रही थी कि काम हुआ कि नहीं है । हत्या के बाद फूलवती ने कहा ठीक है उसे ( मृतक किशन ) को घर के बाहर पटक जाओ । दोनों आरोपी मृतक की लाश को उसके घर के बाहर फेंककर चले गए । पिपलौद थाना टीआई शिवराम झमरा व उनकी टीम ने आठ घंटे में हत्याकांड का खुलासा कर दिया । टीआई झमरा ने बताया कि तीनों आरोपियों को मंगलवार कोर्ट में पेश करेंगे ।