Action: मनरेगा फर्जी जॉबकार्ड मामले में कार्रवाई, सचिव, रोजगार सहायक पर गिरी गाज

खरगोन पंचायत सीईओ गौरव बेनल ने मनरेगा के परियोजना अधिकारी श्याम रघुवंशी, कार्यपालन यंत्री मयंक तिवारी सहित जनपद सीईओ का एक जांच दल ग्राम पंचायत पिपरखेड़ भेजा। वहीं जांच दल ने मनरेगा के जाबकार्डो पर हीरोइन दीपिका पादुकोण सहित अन्य हीरोइन की फोटो को सही पाया।

पुलिस

खरगोन, डेस्क रिपोर्ट। पिछले दिनों खरगोन में मनरेगा(MNREGA) कार्ड में हुए फर्जीवाड़े(fraud) की खबर को एमपी ब्रेकिंग ने प्रमुखता से उठाया था। जिसका खुलासा होने के बाद जिला प्रशासन सहित पंचायत हरकत में आ गया है। इसी के साथ पंचायत सीईओ ने पंचायत सचिव और रोजगार सहायक को उनके पद से बर्खास्त भी कर दिया है। वहीं इस मामले में एक जांच दल पीपरखेड़ भेजा गया था।

मामला सामने आने के बाद खरगोन पंचायत सीईओ गौरव बेनल ने मनरेगा के परियोजना अधिकारी श्याम रघुवंशी, कार्यपालन यंत्री मयंक तिवारी सहित जनपद सीईओ का एक जांच दल ग्राम पंचायत पिपरखेड़ भेजा। वहीं जांच दल ने मनरेगा के जाबकार्डो पर हीरोइन दीपिका पादुकोण सहित अन्य हीरोइन की फोटो को सही पाया। जिसके बाद पंचायत सीईओ ने पंचायत सचिव और रोजगार सहायक को उनके पद से बर्खास्त भी कर दिया है।

बता दे कि मामला मध्य-प्रदेश के खरगोन(khargone) जिले का है। जहां आदिवासी बहुल जनपद पंचायत झिरन्या की पंचायत पीपरखेड़ नाका में यह कारनामा देखने को मिला था। मनरेगा के फर्जी जॉबकार्ड में दीपिका पादुकोण सहित बॉलीवुड(bollywood) की अन्य अभिनेत्रियां मनरेगा(MNREGA) में मजदूरी करके हजारों रुपए वेतन उठा रही है। इतना ही उन्हें इन वेतन का भुगतान उनके काम के लिए किया जा रहा है। इसका खुलासा मनरेगा के पोर्टल से हुआ।

इसे भी पढ़े:मनरेगा में मजदूरी करके वेतन उठा रहीं दीपिका पादुकोण-जैकलीन फर्नांडीज, ये है पूरा मामला

वहीं मोनू दुबे के नाम के जॉब कार्ड में फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया था। इधर सोनू नाम के एक अन्य लाभार्थी है। जिसके जॉबकार्ड पर जैकलीन फर्नांडीज की तस्वीर लगाई थी। हालांकि खुलासे के बाद इस फर्जीवाड़े का आरोप ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक पर लगाया गया था जबकि मामला संज्ञान में आने के बाद जिला पंचायत सीईओ गौरव बेनल ने भी दोषियों पर कार्रवाई की बात कही थी।