कुंदा नदी में नहाने गए 3 युवकों की डूबने से मौत, 1 को बालों से खींचकर बचाया, गांव मे पसरा मातम

death-of-three-young-men-from-drowning-in-river-khargoun-madhypradesh-

खरगोन।

मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में सोमवार को बड़ा हादसा हो गया । यहां कुंदा नदी मे नहाने गए तीन लड़कों की डूबने से मौत हो गई।  घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस के गोताखोरों द्वारा करीब एक घंटे की सर्चिंग के बाद तीनों युवकों की नदी से लाश बरामद कर ली है।वही शवों को पीएम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है।बताया जा रहा है तीनों शादी में शामिल होने यहां पहुंचे थे और सुबह नहाने के लिए नदी पर पहुंचे और हादसा हो गया। घटनाक्रम के बाद परिवार में मातम का माहौल है, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

मिली जानकारी के अनुसार, मोतीपुरा की संगीता साल्वे के घर इंदौर निवासी उनके भानजे रोहित साल्वे की शादी थी। इसमें शामिल होने के लिए गौरव, तुषार, प्रथम परमार आए थे। सुबह ठिबगांव से बरात लौटने के बाद तीनों ने नदी में नहाने का प्लान बनाया। इनके साथ प्रिंस वर्मा भी चल दिया।तभी नहाने के दौरान अचानक तीनों युवक गहरे पानी में डूब गए। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचें गोताखोरों द्वारा एक घंटे की सर्चिंग के बाद तीनों के शवों को बाहर निकाला गया।

मृतकों के नाम गौरव उर्फ गोलू (23), तुषार उर्फ छोटू (15) और प्रिंस वर्मा (18) थे। गौरव इंदौर के राम नगर और तुषार बाणगंगा का रहने वाला है, वहीं प्रिंस मोतीपुरा (खरगोन) का था। बताया जा रहा है कि ये सभी युवक कहार समाज की एक शादी समारोह में इंदौर से खरगोन बारात लेकर पहुंचे थे। हादसे की खबर लगते ही बडी संख्या में परिजन रोते-बिलखते मौके पर पहुंचे। इस दौरान शादी की खुशियां मातम में बदल गई। 

एक को बाल खींचकर बचाया

इंदौर निवासी प्रत्यक्षदर्शी सनी साल्वे ने बताया कि हम लोग पहले से नदी में थे। एक बार ये लोग नहा चुके थे। तुषार का बड़ा भाई मोनू भी वहीं था। हमने उन्हें घर चलने को कहा। चारों ने कहा नीचे शैंपू से नहाकर आते हैं। हम फव्वारे का पानी पीने लगे। चारों ने शैंपू लगाया। फिर तुषार, प्रिंस व गौरव नहाने के लिए कूदे। उसके बाद प्रथम ने छलांग लगा दी। वह डूबने लगा। हम 50 मीटर दूर खड़े थे। उसकी आवाज सुनकर हम दौड़े प्रथम के बाल खींचकर उसे बाहर निकाला। पीछे पलटकर देखा तो नदी में तीनों नहीं दिखे।