कोरोना कर्फ्यू में गरीबों का सहारा बनी दीनदयाल रसोई

खरगोन जिले में कोरोना कर्फ्यू के दौरान दीनदयाल रसोई गरीबों को खाना पहुंचा रही है।

खरगोन, बाबूलाल सारंग। जिले में कोरोना (Covid-19) के बढ़ते खतरे को देखते हुए कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) लगाया गया है। ऐसे में गरीबों और भिक्षुओं की हो रही समस्या को देखते हुए दीनदयाल रसोई ने उन तक भोजन पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। जहां अब शहर के अन्य लोग भी मदद के लिए आगे आने लगे हैं।

यह भी पढ़ें:-कोरोना को लेकर चिंतित मप्र सरकार, मुख्यमंत्री राहत कोष से जिलों को 52 करोड़ जारी

नगर पालिका शहरी आजीविका मिशन के सीटी मैनेजर हंसराज मस्तकर ने बताया कि नगर पालिका के वाहन से गरीबों और भिक्षुओं को नगर पालिका वाहन से भोजन वितरण कार्य किया जा रहा है। साथ ही जिला चिकित्सालय में कोरोना मरीजों के परिजनों को वहीं पहुंचकर भोजन दिया जा रहा है। दो दिवस से निरंतर अपना प्यारा खरगोन वाट्सअप ग्रुप द्वारा भोजन सामग्री उपलब्ध करवाई जा रही है। संचालन संस्था समन्वय सोशल हेल्ड एंड एन्विरोमेंटल के पदाधिकारियों द्वारा आमजन और अन्य संस्थाओं से अपील की है कि वे आगे आकर सहयोग प्रदान करें। दान और अन्य सहयोग के लिए हेल्पलाइन नंबर 8109590100 पर संपर्क किया जा सकता है।

खालसा की फौज कर रही भोजन वितरण

खालसा की फौज के द्वारा भी मरीजों के परिजनों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। जहां सोमवार से जिला चिकित्सालय में मरीजों के साथ आए हुए सहायकों के लिए भोजन वितरण कार्य क्षेत्रीय सांसद गजेंद्र पटेल के माध्यम से प्रारंभ हुआ। खालसा की फौज के सेवादार सरदार परविंदर सिंह चावला द्वारा बताया गया कि बैसाखी के पर्व और गुड़ी पड़वा हिंदू नए वर्ष के लिए आज विशेष रूप से भोजन सामग्री बनाई गई। यह व्यवस्था अभी केवल चिकित्सालय परिसर के लिए ही संचालित की जा रही है।