Farmers-angry-on-list-of-debt-waiver-in-khargaon

खरगोन। मध्य प्रदेश में किसानों को कांग्रेस सरकार से कर्ज माफी को लेकर बड़ी राहत का इंतेजार था। प्रदेश के खरगोन जिले में कर्ज माफी की लिस्ट भी प्रशासन द्वारा गलना शुरू हो गई हैं। लेकिन इन लिस्ट को देख कर किसान खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। सरकार बनने से पहले दो लाख तक के कर्ज को माफ करने का वादा सरकार ने किया था। लेकिन जो लिस्ट खरगोन जिले में प्रशासन द्वारा लगाई गई वह महज किसानों के साथ एक मजाक साबित हो रही है। लिस्ट में कुछ किसानों के 25 और 300 रुपए माफ होना दर्शाए गए थे। 

ये देख किसानों में गुस्सा है। वह सरकार और प्रशासन के रवैये से नाराज हैं। उनका कहना है कि कर्ज की राशि अधिक है, प्रशासन का यह हिसाब समझ से परे है। प्रशासन का कहना है कि 31 मार्च तक की अवधि में जिन किसानों पर ऋण है, उन्हीं की सूची जारी की गई है। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में सभी किसानों का दो लाख रुपए तक का कर्ज माफ करने की घोषणा की थी। जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत स्थानीय टाउन हॉल में कर्जमाफी की सूची बुधवार को लगी। इसमें जैतपुर के किसान प्रकाश के 25 रुपए माफ होने की जानकारी थी। प्रकाश का कहना है कि ढाई लाख रुपए के कर्ज में से 25 रुपए किस हिसाब से माफ किए गए, समझ से परे है।

यही नहीं एक और मामले में किसानों के सिर्फ 300 रुपए माफ होने का जिक्र है। सिकंदरपुरा के अमित ने बताया कि वह किसान है और जो लिस्ट लगाई गई है उसमें 300 रुपए उनके माफ किए गए हैं। उनका कहना है कि उनपर करीब 30 हजार का कर्ज है।उनका कहना है कि असुविधा से बचने के लिए उन्होंने अपने स्तर पर कर्ज की राशि जुटाकर जमा करवाई और खाता निल कर फिर से कर्ज लिया, लेकिन सूची में इसका उल्लेख नहीं है। खरगोन के किसान राजेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने दो लाख बीस हजार रुपए का कर्ज लिया था। सूची में उनके तीन सौ रुपए माफ हुए हैं।