मेहनत से उगाई सब्जी की फसल खुद नष्ट करने को मजबूर किसान,खेतों में चला रहे ट्रैक्टर

खरगोन/त्रिलोक रामणेकर

खरगोन जिले के ग्राम कतरगाव में लॉक डाउन से सब्जियां जिले सहित इंदौर मंडी में नहीं जा पा रही है जिसके चलते खेतो में सब्जियां खराब हो रही है। इसी कारण किसानों को लाखों रुपये का नुकसान हो रहा। और कोई चारा न देख किसान अपने दिल पर पत्थर रख अपनी खून पसीने से उगाई गई सब्जियों को खेतों में रोटावेटर से नष्ट करने को मजबूर हो रहे हैं। उन्हें ये फसल नष्ट करना जरूरी है क्योंकि अगरी फसल की तैयारी भी करना है ।

किसान विजेंद्र पाटीदार ने बताया कि उसने 3 एकड़ में अन्य किसानों ने किसानों ने करीब 30 एकड़ खेत मे पत्ता गोभी की फसल लगाई थी, जिसमें प्रति एकड़ 25 से 30 हजार खर्च किए थे और 50 से 60 हजार प्रति एकड़ का मुनाफा होना था। फसल भी बहुत बढ़िया हुई थी लेकिन लॉक डाउन के चलते मंडियां बंद होने से सब्जी नही बेच पाए। ऐसी स्थिति में तैयार फसल को ट्रैक्टर चलाकर रोटावेटर से पीसना पड़ रहा है जिससे फसल की लागत मूल्य सहित लाखों रुपये का नुकसान हुआ है।