खरगोन दंगों में लापता हुई महिला को पुलिस ने सुरक्षित खोज निकाला

खरगोन, डेस्क रिपोर्ट। खरगोन दंगों के दौरान लापता हुई महिला लक्ष्मी सुरक्षित है और खरगोन पुलिस ने उसे तलाश लिया है, गौरतलब है कि खरगोन में रामनवमी के जुलूस के दौरान हुए दंगे के बीच महिला लक्ष्मी लापता हो गई थी, दरअसल खरगोन के चमेली की बाड़ी इलाके की रहने वाली लक्ष्मी की 8 साल की बेटी और 12 साल का बेटा रामनवमी की शोभायात्रा देखने गए थे इसी दौरान दंगे हो गए, जैसे ही लक्ष्मी को दंगों की खबर मिली, लक्ष्मी घर से दौड़ते हुए अपने बच्चों को तलाशने निकल पड़ी, इसी बीच बच्चे घर लौट आए लेकिन लक्ष्मी नहीं लौटी, घरवालों ने उसे तलाशने का प्रयास किया लेकिन लक्ष्मी का कुछ पता नहीं चला, थक- हार कर परिजनों ने लक्ष्मी की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज करवा दी।

यह भी पढ़ें…. एमपी गजब है आबकारी विभाग का अनोखा कारनामा

जिसके बाद उसे तलाशने पुलिस ने भी गंभीरता दिखाई, वही उसके बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल था, लक्ष्मी को तलाशते हुए पुलिस को अहम जानकारी हाथ लगी जिसके बाद यह साफ हो गया कि लक्ष्मी सुरक्षित है, वह दंगों में घायल नहीं हुई, खरगोन के प्रभारी SP रोहित काशवानी का कहना है कि CCTV फुटेज में हमने उसे एक रिश्तेदार के साथ जाते देखा है। फिलहाल, वह सुरक्षित है। दंगे के 11वें दिन शुक्रवार को पुलिस ने मामले का खुलासा किया। SP काशवानी ने बताया कि लक्ष्मी के लापता होने की सूचना मिलते ही हमारी टीमें लगातार उसकी तलाश में जुट गई थी। हमने CCTV की कई फुटेज खंगाले थे। इसी दौरान लक्ष्मी खंडवा रेलवे स्टेशन पर अपने रिश्तेदार के साथ दिखाई दी। SP ने आगे बताया कि हमने लक्ष्मी के पूरे रिकार्ड की जांच की। उसमें पता चला कि महिला ससुराल पक्ष के किसी मेंबर के साथ अपनी मर्जी से गई थी। वह सुरक्षित है।