फिर सामने आई पुलिस की असंवेदनशीलता, दुष्कर्म पीड़िता ने कीटनाशक पीकर की सुसाइड

खरगोन। खरगोन जिले के महेश्वर थाने के आशापुर गांव में एक 15 वर्षीय नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने और आरोपी युवक की धमकी प्रताड़ना से तंग आकर  नाबालिग द्वारा कीटनाशक पीकर आत्माहत्या करने का सनसनीखेज़  मामला सामने आया है। जिले की महेश्वर पुलिस पर प्रकरण दर्ज नहीं करने के गंभीर आरोप लगे है। 

नाबालिग के पिता ने आरोप लगाया है की पुलिस द्रवारा प्रकरण दर्ज नही करने से नाबालिग ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या की है।  इलाज के दौरान जिला अस्पताल में नाबालिग की मौत के बाद परिजनों में आक्रोश है। बताया जा रहा है की आरोपी युवक के रसुक के चलते पुलिस के द्रवारा प्रकरण दर्ज नही किया था। गौरतलब है की नाबालिग के साथ रेप की शिकायत को लेकर शासन प्रशासन के पास्को एक्ट तत्काल प्रकरण दर्ज करने के निर्देश है लेकिन महेश्वर पुलिस द्रवारा  प्रकरण दर्ज नही करना बडा सवाल है। नाबालिग के साथ रेप करने वाला युवक बच्चू पिता सुखराम गांव का ही  बताया जा रहा है। जिला अस्पताल से शव ले जाने से परिजनों के इंकार के बाद हरकत में आई पुलिस ने परिजनों को समझा बुझाकर  पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर रवाना किया। नाबालिग की मौत के बाद अब पुलिस बता रही है की महेश्वर थाने मे रेप का प्रकरण दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की कार्यप्रणाली एक बार फिर बडे सवाल खडे कर रही है। अगर प्रकरण दो दिन पहले ही दर्ज हो जाता आरोपी गिरफ्तार  हो जाता तो शायद नाबालिग  कीटनाशक नही पीती और मौत को गले नही लगाती। पुलिस  अधिकारी हमेशा की तरह जाँच की बात कर रहे है। इधर जिला अस्पताल में मौत से पहले नाबालिग ने अपने बयान में स्पस्ट आपबीती बताते हुए आरोपी द्वारा जान से मारने की बात की है।