इंदौर के आग्रेनिक एक्सपो मेले में सजेंगे खरगोन की जैविक फसलों के स्टॉल

खरगोन, बाबुलाल सारंग। मध्यप्रदेश में जैविक खेती और आमजनों में जैविक उत्पादों के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इंदौर के कृषि महाविद्यालय, आत्मा परियोजना और निजी संस्था द्वारा आयोजित चार दिवसीय आग्रेनिक एक्सपो मेले का आयोजन किया जा रहा है। बुधवार से प्रारंभ होने वाले दूसरे जैविक कृषि ज्ञान सम्मेलन में प्रदेशभर से जैविक विशेषज्ञों, किसानों और व्यापारियों को आमंत्रित किया गया है।

ये भी देखिये- Singrauli : लाखो की लागत से खरीदी एक्स-रे मशीन में लग रही जंग, मरीज हो रहे परेशान

चार दिवसीय मेले में कांफ्रेंस के अलावा जैविक प्रदर्शनी और ट्रेडिंग से जुड़े स्टॉल भी लगाए जाएंगे। इस बड़े आयोजन में खरगोन जिले के कई जैविक किसानों द्वारा अपने स्टॉल लगाए जाएंगे। इसमें मोटापुरा के कामधेनु किसान स्व सहायता समुह, बिस्टान के अविनाश दांगी और महेश्वर में बड़वी के भगवान राव सालुंके अपने-अपने जैविक उत्पादों का स्टॉल लगाएंगे।

इंदौर के आग्रेनिक एक्सपो मेले में सजेंगे खरगोन की जैविक फसलों के स्टॉल

प्रदेशभर के जैविक किसानों द्वारा उत्पादित कई तरह की न सिर्फ फसलें, बल्कि देशी बीज भी यहां देखने को मिलेंगे। किसानों के इस बड़े आयोजन में जिले के कुछ जैविक किसान भी अपनी जैविक फसलों के साथ स्टॉल लगाने वाले है। जैविक उत्पाद मेला के संचालक मनीष मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि मेले के दौरान प्रदेश के 500 किसानों का स्टॉल लगाया जा रहा है। मेले में अपनी फसलों का स्टॉल लगाने वाले किसान अविनाश दांगी ने बताया कि वे इस मेले में करीब 45 प्रकार की जैविक फसलों के 2 स्टॉल लगा रहे हैं। इसमें गेहूं, ज्वार, मक्का व बाजरा के आटे और दलिया के अलावा देशी बीजों का स्टॉल भी लगाएंगे। देशी बीजों में दलहनी, सब्जी और अनाज वाली फसलें शामिल है। वहीं मोठापुरा के कामधेनू स्व सहायता समुह द्वारा मसाला आधारित फसलें व महेश्वर के भगवान राव सालुंके जैविक गुड़ के अलावा गेहूं, हल्दी और गेहूं के तीन देशी किस्मों के गेहूं के स्टॉल लगाएंगे।