प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या, एक साल बाद सुलझी अंधे क़त्ल की गुत्थी

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर पुलिस ने पति पत्नी के रिश्ते को तार तार करने वाली एक ऐसी कहानी का खुलासा किया है जिसका अंत पति की हत्या के साथ हुआ था। पत्नी ने पति के दोस्त के साथ रिश्ता बनाया और फिर फिर पति को रास्ते से हटवा दिया।  एक साल तक पुलिस भटकती रही, शातिर दिमाग पत्नी ने पुलिस में गुमशुदगी दर्ज कराई, हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका लगाई, लेकिन आखिर में पकड़ी गई।  पुलिस ने हत्या के आरोप में मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि इनका तीसरा साथी अभी फरार है।

ग्वालियर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि भितरवार क्षेत्र में रहने वाले फेरन जाटव की शादी शिवपुरी में रहने वाली महिला से हुई थी। ये लोग ग्वालियर में हुरावली में किराये के मकान में रहते थे। फेरन के घर उसका एक दोस्त आया जाया करता था।  कुछ दिनों बाद उसकी पत्नी के सम्बन्ध दोस्त से हो गए। ये बात फेरन को पता चली तो उसने विरोध किया। उसके बाद पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर रास्ते से हटाने की योजना बनाई।

ये भी पढ़ें – नगरीय निकाय चुनाव पर फिलहाल ब्रेक, कोरोना समीक्षा के बाद होगा निर्णय

प्रेमी और प्रेमिका दोनों ने मिलकर एक अन्य युवक जो प्रेमी का दोस्त है, को योजना में शामिल किया फिर 5 अगस्त 2020 को हस्तिनापुर थाना क्षेत्र के कृपालपुर में बुलाया, उसे शराब पिलाई और फिर लोहे के सरिये और पत्थर से कुचलकर उसकी हत्या कर दी उसके बाद प्रेमी और उसके दोस्त ने फेरन के शव को घटना स्थल से 200 मीटर दूर एक कुए में फेंक दिया।

ये भी पढ़ें – Singrauli: पूर्व मंत्री ने कलेक्टर के खिलाफ अमर्यादित भाषा इस्तेमाल करना पड़ा महंगा, मामला दर्ज

घटना को अंजाम देने के बाद 15 अगस्त को मृतक की पत्नी भितरवार थाने पहुंची  और पति की गुमशुदगी दर्ज कराई।  गुमशुदगी दर्ज होने के बाद पुलिस अपने स्तर पर जाँच करती रही इस बीच पत्नी ने पुलिस को गुमराह करने के उद्देश्य से कई जगह शिकायतें की , हाईकोर्ट तक में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका लगाईं लेकिन पुलिस को कोई कामयाबी नहीं मिली।पुलिस ने पत्नी सहित उसके कई रिश्तेदारों और मिलने वालों से पूछताछ की लेकिन कोई सफलता नहीं मिली।

ये भी पढें – महंगाई के विरोध में माकपा का जेल भरो आंदोलन, प्रदर्शन कर दी गिरफ्तारियां

दो दिन पहले पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मृतक की पत्नी जिस युवक के साथ रह रही है वो कहीं दक्षिण भारत की तरफ भागने वाले हैं।  पुलिस को शक हुआ तो पता चला कि गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाने के कुछ दिन बाद ही मृतक की पत्नी हुरावली वाल किराया का घर छोड़कर प्रेमी के साथ रहने कृपालपुर आ गई थी।  पुलिस ने युवक को पूछताछ के लिए बुलाया और जब कड़ाई से पूछताछ की तो वो टूट गया और उसने पूरी घटना बता दी और हत्या कुबूल कर ली।  पुलिस ने महिला को भी बुलाया और उसने भी सच्चाई स्वीकार कर ली।

प्रेमी और प्रेमिका द्वारा हत्या कुबूल किये जाने के पुलिस ने उनकी निशानदेही  पर कुए से शव को बाहर निकाला गया  जो कंकाल बन चुका था।  पुलिस ने हस्तिनापुर थाने में दोनों के खिलाफ धारा 302 और 201 IPC के तहत मामला दर्ज कर लिया।एसपी अमित सांघी ने बताया कि घटनाक्रम में एडिशनल एसपी देहात जयराज कुबेर, एसडीओपी भितरवार अभिनव बारंगे, थाना प्रभारी भितरवार पंकज त्यागी सहित देहात क्षेत्र के हस्तिनापुर, बेहत आदि थानों के स्टाफ की महत्वपूर्ण भूमिका रही।  एसपी ने कहा कि जो कंकाल मिला है उसका DNA कराया जायेगा। इनका जो तीसरा साथी फरार है उसकी तलाश की जा रही है वो जल्दी ही पकड़ा जाएगा।