इंदौर : शहर के सेंडल और चैनपुरा में दिखा तेंदुआ, रातभर खौफ में रहे ग्रामीण

जंगल से लगे गांवों में ग्रामीण रातभर टार्च और लाठियां लेकर निगरानी करते रहे। ग्रामीणों ने पांच से छह लोगों का ग्रुप बनाकर रात भर पहरा दिया।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर से सटे इलाकों दुधी बावड़ी और गाजिंदा में तेंदुए के हमले के कारण स्थानीय लोग दहशत में आ गए है। उधर, वनकर्मियों की तरफ से लोगों को सावधान और सतर्क रहने की सलाह दी गई है। गुरुवार देर रात भी फिर एक बार तेंदुए ने मवेशी का शिकार कर दिया है। स्थानीय लोगों ने इस मामले को वनकर्मियों द्वारा गंभीरता से ना लेने का आरोप लगाया है। लोगों ने बताया सूचना देने के 6 घंटे बात बाद वनकर्मी ग्रामीणोंं के बीच पहुंचे है।

जंगल से लगे गांवों में ग्रामीण रातभर टार्च और लाठियां लेकर निगरानी करते रहे। ग्रामीणों ने पांच से छह लोगों का ग्रुप बनाकर रात भर पहरा दिया।

ये भी पढ़े … महापौर पद के लिए आज नामांकन दाखिल करेंगी विभा पटेल और मालती, ट्रैफिक होगा डायवर्ट

उक्त घटना चोरल रेंज के सेंडल और बड़वाह रेंज के गांव चैनपुरा से सामने आई है, जहां बीती शाम करीब छह बजे सेंडल गांव में तेंदुए ने एक मवेशी पर हमला कर दिया और अपने जबड़े में दबोचकर तेंदुआ मवेशी को घसीटकर लेकर जाने लगा। इसी दौरान कुछ ग्रामीणों ने उसे ऐसा करते हुए देख लिया और शोर मचा दिया।

इसके बाद फिर बड़वाह रेंज में आने वाले चैनपुरा गांव में तेंदुए को देखा गया, जिसकी सूचना ग्रामीणों ने वनकर्मियों को दी। चैनपुरा में बड़वाह रेंज से दो वनकर्मी रात करीब नौ बजकर 45 मिनट पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझा-बुझाकर वापस लौट गए।

चोरल रेंजर रविकांत जैन ने बताया कि जंगल से बिल्कुल सटे हुए गांवों में तेंदुए का मूवमेंट रहता है।