लोकायुक्त की कार्रवाई, पनागर जनपद सीईओ को 10 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा

मामले में ग्राम पंचायत लखना के सचिव सोनेलाल की विभागीय जांच चल रही थी जिसको खत्म करने के लिए पनागर सीईओ ने 20,000 रुपयों की रिश्वत की मांग की। बाद में सौदा 10,000 रुपय में तय हुआ।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में लोकायुक्त पुलिस ने पनागर जनपद सीईओ को 10 हज़ार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है। खबर के मुताबिक जबलपुर के पनागर जनपद स्थित ग्राम पंचायत लखना में पदस्थ सचिव सोने लाल पटेल की विभागीय जांच खत्म करने को लेकर पनागर जनपद सीईओ उदयराज सिंह ने उससे रिश्वत की मांग की थी। इसकी शिकायत सचिव ने लोकायुक्त पुलिस से की थी। वहीं आज लोकायुक्त पुलिस ने 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए सीईओ को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

20 हजार का सौदा 10 हजार में तय हुआ

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत लखना के सचिव सोनेलाल की विभागीय जांच चल रही थी जिसको खत्म करने के लिए पनागर सीईओ ने 20,000 रुपयों की रिश्वत की मांग की। बाद में सौदा 10,000 रुपय में तय हुआ। पंचायत सचिव सोनेलाल ने सीईओ के द्वारा रिश्वत मांगने की शिकायत जबलपुर लोकायुक्त पुलिस से कि थी। वहीं आज जब पनागर जनपद सीईओ उदय राज सिंह को 10,000 रुपये की रिश्वत अपने कार्यालय में ले रहा था तभी उसे लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया लिया। जबलपुर लोकायुक्त पुलिस की टीम में निरीक्षक स्वप्निल दास, कमल उईके, भूपेंद्र दीवान,राकेश विश्वकर्मा मौजूद रहे।