भोपाल : जनता ने नही,हनुमान ने चुना अपना जनप्रतिनिधि

भोपाल जिले की फंदा जनपद पंचायत के वार्ड नंबर 12 से तीन उम्मीदवार खड़े हुए थे, जिसमें बावड़िया कला के लाल सिंह गुर्जर, जमुनिया के नरेंद्र मीना और डंगरौली के बृजेश मीणा शामिल है। पर्ची में वड़िया खुर्द निवासी लाल सिंह गुर्जर का नाम आया, जिसके बाद उन्हें जनपद सदस्य चुना गया।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में आगामी पंचायत चुनावों को लेकर, सियासी घमसान शुरू हो गया है, जहां 6 जून तक नामांकन करने के बाद, दावेदारों ने मतदाताओं को रिझाने के लिए कोशिशें शुरू कर दी है। लेकिन इस बीच प्रदेश की राजधानी से अजीबो-गरीब चुनाव का आयोजन सामने आया, जहां पवन पुत्र हनुमान ने जनपद सदस्य को चुना है।

दरअसल, जहां एक तरफ पंचायत चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए उम्मीदवार अलग-अलग पैंतरे चल रहे है वहीं दूसरी तरफ बाबड़िया जमुनिया डंगरौली के युवाओं ने समझदारी से निर्णय लेते हुए मिसाल पेश की है।

उन्होंने इलाके में स्थित हनुमान मंदिर में एक सभा का आयोजन किया और आपसी सहमति से पर्ची फेंक कर जनपद सदस्य को चुना।

बता दे, भोपाल जिले की फंदा जनपद पंचायत के वार्ड नंबर 12 से तीन उम्मीदवार खड़े हुए थे, जिसमें बावड़िया कला के लाल सिंह गुर्जर, जमुनिया के नरेंद्र मीना और डंगरौली के बृजेश मीणा शामिल है। पर्ची में वड़िया खुर्द निवासी लाल सिंह गुर्जर का नाम आया, जिसके बाद उन्हें जनपद सदस्य चुना गया।

ये भी पढ़े … पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों की घोषणा आज, चुनाव चिन्ह का भी आवंटन

शुक्रवार को नामंकन वापस लेने की आखिरी तारीख है, बाकी दोनों आज ही चुनाव से अपना नाम वापस ले लेंगे।

इस फैसला पर खुशी जाहिर करते हुए, ग्रामीणों ने कहा की आप तीनों उम्मीदवारों की विजय हुई तीनों ने आपसी सामंजस्य और समझदारी का जो परिचय दिया है वह हम जैसे नव युवाओं के लिए एक बड़ा उदाहरण और मिसाल बनेगा । इसी तरह हर गांव के व्यक्ति जागरूक हो जाएं तो ना झगड़ा होगा ना बुराई और ना ही चुनाव में अनाप-शनाप खर्च होगा। इसके साथ ही जनता में तीनों का सम्मान और भरोसा कायम हुआ।