शादी के लिये फर्जी खाकी का दम! ASI बनकर युवती से की सगाई, शक होने पर हुआ चौंकाने वाला खुलासा

मामले में आरोपी से पूछताछ की जा रही है। पुलिस के मुताबिक, राजवीर गांव में खुद को पुलिस अफसर बताकर लोगों को झांसा दिया करता है। असल में वह कोई काम नहीं करता।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) के इंदौर जिले (Indore) से धोखाधड़ी का एक हैरतंगेज़ मामला सामने आया है। यहां एक युवक ने अपनी असली पहचान छुपाकर खुद को सब इंस्पेक्टर बताया और महिला से सगाई कर ली। फिर दहेज में 8 लाख रुपये नगद और एक्टिवा भी ले ली। जल्द ही दोनों की शादी भी होने वाली थी। लेकिन इस बीच महिला को शक हुआ तो उसने युवक की जांच पड़ताल की जिसमें पता चला के वो फर्जी इंस्पेक्टर बनकर उसे धोखा दे रहा था। युवक ना तो कोई अधिकारी था और ना ही पुलिसकर्मी। मामले का खुलासा होने पर युवती खुद बदमाश को लेकर थाने पहुंची जहां उसके खिलाफ विजयनगर थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। वहीं पुलिस ने फर्जी सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर लिया है।

ये भी पढ़ें- मप्र उपचुनाव: कमलनाथ ने लोकायुक्त को कहा नकली, नरोत्तम मिश्रा ने किया पलटवार

शादी के लिये फर्जी खाकी का दम! ASI बनकर युवती से की सगाई, शक होने पर हुआ चौंकाने वाला खुलासा

मामले पर पीड़ित युवती ने बताया कि 28 जून 2019 को सिमरोल के रहने वाले राजवीर सोलंकी से उसकी सगाई हुई थी। दोनों का संबंध पीड़िता के मौसी के बेटे के माध्यम से तय किया गया था। रवि ने उस वक्त खुद को मध्यप्रदेश पुलिस में ASI बताया था। अगले साल 9 मई 2022 को दोनों की शादी होने वाली थी। उसने सगाई के वक्त ASI की ड्रेस और आईडी कार्ड परिवार वालों को दिखाया था। लेकिन कुछ दिन बाद उसने सब इंस्पेक्टर की वर्दी में मंगेतर को मोबाइल पर फोटो भेजी। इसे देख युवती को शक हुआ तो उसने यह बात अपने छोटे भाई को बताई और राजवीर की जानकारी निकालने के लिए कहा। मंगेतर के भाई ने एसपी ऑफिस जाकर मोबाइल पर ID कार्ड दिखाया और जानकारी मांगी। वहां से पता चला कि इस नाम का कोई सब इंस्पेक्टर जिले में तैनात नहीं है। जिसके बाद भाई ने फर्जी अफसर की पोल खोल दी।

मामले का खुलासा होने पर युवती ने राजवीर के खिलाफ विजयनगर पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। मामले में आरोपी से पूछताछ की जा रही है। पुलिस के मुताबिक, राजवीर गांव में खुद को पुलिस अफसर बताकर लोगों को झांसा दिया करता है। असल में वह बेरोजगार है और कोई काम नहीं करता है।