स्कूली बच्चों पर मधुमक्खियों का हमला, स्कूल प्रबंधन का गैरज़िम्मेदाराना रवैया

मंदसौर। शहर के एक स्कूल में आज बच्चों की सुबह दहशत भरी रही। महू नीमच हाईवे पर स्थित जैन स्कूल में शुक्रवार सुबह बच्चों पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। मधुमक्खियों के हमले में करीब 35 बच्चे घायल हुए हैं। इस पूरी घटना में सबसे दुखद बात ये है कि जब मधुमक्खियों का हमला हुआ तो इलाज मुहैया कराने की बजाय शिक्षकों और स्कूल प्रबंधन ने रोते बिलखते बच्चों को कमरे में बंद कर दिया और खुद भी कमरे में बंद हो गए। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्चों को अस्पताल पहुंचाया।

मधुमक्खियों के हमले के बाद ही स्कूल मे अफरातफरी का माहौल हो गया। ऐसे में बच्चों को शांत करने व कोई सुरक्षा का इंतज़ाम करने की बजाय स्कूल प्रबंधन ने उन्हें कमरे में बंद कर घोर लापरवाही का परिचय दिया है। बाद में घायल बच्चों को कोतवाली टीआई ने अपनी गाड़ी से व कुछ और लोगों ने बाइक से अस्पताल पहुंचाया। इससे पहले घायल बच्चे दर्द से कराहते रहे लेकिन स्कूल प्रबंधन द्वारा न तो एंबुलेंस बुलाई गई न ही बच्चों को उनके घरवालों को फोन करने दिया गया। इस तरह एक तरफ तो बच्चे मधुमक्खियों के हमले से घायल हुए वहीं स्कूल के गैरजिम्मेदाराना रवैये से उनकी तकलीफ और बढ़ गई।