मुरैना| संजय दीक्षित| कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर प्रशासन ने चौकसी बढ़ा दी है| शहर में प्रवेश के सभी प्रमुख रास्तों को सील कर दिया है और गलियों में आने जाने वाले रास्तों में बेरिकेटिंग भी कर दी गई है। इसके बाद शहर में कोई भी व्यक्ति गलियों में प्रवेश नहीं कर पायेगा। अंतरराज्जीय सीमा को पहले से ही सील किया जा चुका था लेकिन शहर में भी शक्ति और बढ़ा दी गई है ।

इसके पहले कोरोनावायरस वार्ड और उसके आसपास के इलाकों को पूरी तरह से सील किया जा चुका है। एबी रोड स्थित बेरियल चौराहे से एमएस रोड होते हुए शहर में प्रवेश का रास्ता पूरी तरह से ब्लॉक कर दिया है। गांधी कॉलोनी की तरफ से जाने वाले रास्ता नाला नंबर 1 पूरी तरह से बंद कर दिया है। वहीं पुराने बस स्टैंड से सिंधी कॉलोनी की तरफ जाने वाले रास्ते पर प्यारा होटल से पहले ही बैरिकेडिंग करवा दी गई है जिससे कोई भी आम व्यक्ति अपनी बाइक या अन्य साधन से अंदर गलियों में प्रवेश न कर सकें। वही ओवरब्रिज चौराहे पर भी शहर में आने का रास्ता भी सील कर दिया गया है। वहीं सारी व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए एसपी डॉ असित यादव ने पुलिस फोर्स के साथ एमएस रोड़ पर सघन चेकिंग की और आने जाने वाले राहगीरों को समझाइश देकर घर का रास्ता दिखाया जो व्यक्ति बार-बार एमएस रोड पर घूमते दिखे उन्हें उनकी भाषा में समझा कर घर की तरफ रवाना कर दिया गया।

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए जिले में भी टोटल लॉक डाउन घोषित कर दिया गया है| कलेक्‍टर मंजू शर्मा द्वारा गुरूवार को इस सम्बन्ध में आदेश जारी किया गया है। 10 अप्रैल, 2020 को रात्रि 12:00 बजे से 12 अप्रैल, 2020 को रात्रि 12:00 बजे तक जिला अशोकनगर में संपूर्ण लॉकडाउन घोषित किया गया है।