गरबा प्रांगण में पत्थरबाजी करने वाले आरोपियों के खिलाफ प्रशासन ने की बड़ी कार्रवाई, पढ़े पूरी खबर

पुलिस ने इस मामले में 20 आरोपी बनाए थे । 20 में से कुछ लडको की गिरफ्तारी हो गई थी ,बाकी फरार है।

कमलेश सारडा की रिपोर्ट। मंदसौर (Mandsaur) जिले के सीतामऊ थाना क्षेत्र के अंतर्गत सुरजनी गांव में पिछले दिनों गरबा पांडाल में पत्थरबाजी करने वाले आरोपियों के खिलाफ प्रशासन ने मोर्चा खोल दिया है। प्रशासन ने आज आरोपियो के तीन अवैध मकानों को जमींदोज किया है जिसकी कीमत लगभग 2 करोड़ रुपये बताई जा रही है।

यह भी पढ़े…MP Transfer : परिवहन अधिकारियों के तबादले, यहां देखें लिस्ट

बता दें कि सुबह 7 बजे जिला प्रशासन के अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर करीब दस बुल्डोजर लेकर गांव में पहुंचे और अवैध मकानों को तोड़ने की कारवाई शुरू की। एसडीएम संदीप शिवा ने बताया की पूरे घटनाक्रम में 20 लोगो के ऊपर प्रकरण दर्ज किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें गठित की गई है साथ ही आरोपियों के जो अवैध मकान बने थे उनको आज तोड़ा गया है। अन्य बचे हुए आरोपियों के जमीन के भी दस्तावेज खंगाले जा रहे है अगर शासकीय जमीन पर पाये गए तो उनको भी तोड़ने की कार्यवाही की जाएगी।

गरबा प्रांगण में पत्थरबाजी करने वाले आरोपियों के खिलाफ प्रशासन ने की बड़ी कार्रवाई, पढ़े पूरी खबर

यह भी पढ़े…अक्टूबर में इस दिन लगने जा रहा है सूर्य ग्रहण, इन 6 राशियों को सावधान होने की जरूरत, पढ़े पूरी खबर

आज फिलहाल 03 मकान तोड़े गए है । जिनके आरोपी निम्न है
1. जाफर पिता लाल खां
2. अकलू पिता हाफिज खां
3. रईस पिता रहिबुल रहमान

पंचायत द्वारा जानकारी दी गई थी की ये मकान अवैध बने हुए हैं। पंचायत की भूमि पर ही बने हुए हैं। इन्हे हटाने के लिए नोटिस भी दिया गया था,लेकिन इन्हे नही हटाया गया था। पंचायत द्वारा आज एसडीएम सीतामऊ तथा थाने को पत्र लिख कर जानकारी दी गई थी आज अतिक्रमण हटाया जाएगा। तो कार्यवाही के लिए मैं एसडीएम सीतामऊ, अपने दल के साथ यहां आया हूं। ये लगभग 1 से 2 करोड़ की लागत के मकान है।

गरबा प्रांगण में पत्थरबाजी करने वाले आरोपियों के खिलाफ प्रशासन ने की बड़ी कार्रवाई, पढ़े पूरी खबर

यह भी पढ़े…यहां पढ़िए 4 अक्टूबर की मध्य प्रदेश की सभी बड़ी खबरें, केवल एक क्लिक पर

कुछ दिनों पूर्व नवरात्रि पांडाल में गरबे हो रहे थे जहां कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा पत्थरबाजी करके माहोल बिगाड़ने की कोशिश की थी। अभी उनके खिलाफ कार्यवाही की गई है जिन पर 307 का मामला दर्ज है। इसके अलावा और भी आरोपियों की तलाश जारी है।