विधायक ने की कृषि मंत्री कमल पटेल से मुलाकात, दिये ये सुझाव

मंदसौर, राकेश धनोतिया। गरोठ-भानपुरा विधायक देवीलाल धाकड़ ने भोपाल में कृषि मंत्री कमल पटेल से मुलाकात कर किसानों की समस्याओं पर चर्चा की। इस दौरान खेतों में किसानों की आकस्मिक मृत्यु एवं खेती की रासायनिक उपजाऊ शक्ति बढ़ाने जैसे मुद्दों पर बात हुई।

देवीलाल धाकड़ कहा कि मध्यप्रदेश का 75% हिस्सा कृषि पर आधारित है। कृषि कार्य करते समय कई बार देखा गया कि जहरीले जानवर जैसे सांप बिच्छू आदि किसान भाइयों को काट लेते हैं। इस कारण कई किसानों की आकस्मिक मृत्यु हो चुकी है। इस विषय में यदि कृषि कार्य करने वाले किसान भाइयों को वैज्ञानिक तरीके से बनी हुई पोशाक दी जाती है तो उसको पहनकर कृषि कार्य करते समय जहरीले जीव जंतुओं से बचा जा सकेगा। इसी के साथ उन्होने कहा कि किसानी का काम करते समय बिजली का करंट लगने की भी कई घटनाएं देखी गई है। इस पर भी अंकुश लगाने के लिए किसानों को पहनने के लिए दस्ताने उपलब्ध करवाना, एक बड़ी सौगात होगी। मध्य प्रदेश मे समस्त किसानों के लिए वैज्ञानिक तरीके से बनी पोशाक देने पर किसान भाइयों की आकस्मिक मृत्यु पर अंकुश लग सकता है।

विधायक ने कृषि मंत्री से अनुरोध किया कि यदि ये योजना लागू की जाती है तो मध्य प्रदेश के किसानों के लिये ये एक तोहफा होगा। साथ ही उन्होने प्रदूषण पर रोक लगाने हेतु सुझाव देते हुए कहा कि मध्य प्रदेश के ग्रामीण नगरीय क्षेत्रों में उम्र पूरी होने पर या आकस्मिक स्थिति में कोई भी जानवर जैसे गाय,भैंस आदि की मृत्यु हो जाती है तो उन्हें जमीन में गड्ढा कर नमक डाल कर गढ़वाया जाये। इससे प्रदूषण से मुक्ति मिलने साथ ही कुछ समय बाद जिस स्थान पर मृत जानवर को गाढ़ा गया वहां की मिट्टी निकाल कर खेतों में जैविक खाद के रूप में उपयोग की जा सकती है, जिसमें प्रचुर मात्रा में खेती को उपजाऊ बनाने के रासायनिक तत्व सम्मिलित होते हैं जो खेती की उपजाऊ शक्ति बढ़ायेगी।

गरोठ विधायक देवीलाल धाकड़ ने दोनों विषय रखते हुए किसानों के हित में अच्छे निर्णय व खेती को उपजाऊ शक्ति बढ़ाने हेतु योजनाओं को लागू करने के लिए एक भी पत्र भेंट किया। उसके साथ नीमच विधायक दिलीप सिंह परिहार एवं कोलारस विधायक बीरेंद्र सिंह रघुवंशी भी उपस्थित रहे।