पार्टी कार्यालय में कांग्रेसी नेताओं के बीच जमकर चले लात-घूसे, पुलिस ने दर्ज किया मामला

वही मामला इतना बढ़ गया कि कांग्रेसी नेता एक-दूसरे पर लात घुसा की बारिश करने लगे।

मंदसौर, डेस्क रिपोर्ट कांग्रेस (congress) का अंदरूनी विवाद अब किसी से छिपा नहीं रह गया है। इसका एक उदाहरण प्रदेश के मंदसौर (mandaur) जिले में देखने को मिला है। जहां नगर निकाय चुनाव (Municipal elections) की तैयारियों के लिए पार्टी की बैठक की जा रही थी। इस बैठक के दौरान कांग्रेसी नेताओं के बीच बड़ा विवाद हो गया। बैठक में कांग्रेसी नेताओंं ने ना सिर्फ एक दूसरे पर संगीन आरोप लगाए बल्कि जमकर मारपीट भी की।

दरअसल मामला मंदसौर जिले का है। जहां नगरीय निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी की बैठक की जा रही थी। इस दौरान नगरीय निकाय चुनाव की रणनीति पर चर्चा करने के लिए पर्यवेक्षक के सामने कांग्रेसी नेताओं ने एक दूसरे पर आरोप लगाने शुरू कर दिए। वही विवाद इतना बढ़ गया कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता के सामने पार्टी कार्यालय में ही कांग्रेसी नेताओं के दो गुटों के बीच हाथापाई हो गई। इसके बाद पुलिस ने हस्तक्षेप देते हुए दोनों गुटों को अलग किया। इसके साथ ही 8 कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया है।

Read More: MP: कर्मचारियों की छुट्टियां हो रही निरस्त, यह है बड़ा कारण

ज्ञात हो कि बैठक के दौरान हंगामा तब शुरू हो गया जब शहर के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष खलील शेख ने एक मामले में पर्यक्षक बटुक शंकर जोशी की उपस्थिति में पूर्व मंत्री के लोगों पर आरोप लगाए। जिसके बाद कांग्रेस नेता सोमिल ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताते हुए उल्टा आरोप खलील शेख पर थोप दिया। जिसके बाद दोनों गुटों के बीच विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई। वही मामला इतना बढ़ गया कि कांग्रेसी नेता एक-दूसरे पर लात घूसे की बारिश करने लगे।

इस मामले में पूर्व जिला अध्यक्ष का कहना है कि कांग्रेस नेता सोमिल के इशारों पर उनके साथ मारपीट की गई है। जबकि कांग्रेस नेता शोमिल का कहना है कि उन्होंने झगड़े को रोकने के लिए बीच-बचाव किया था लेकिन परिस्थिति हाथ से निकल गई थी। वही पुलिस ने पार्टी कार्यालय पहुंचकर दोनों गुटों को अलग किया। वहीं आईपीसी (IPC) की धारा 294 323 506 के तहत पूर्व जिला अध्यक्ष खलील शेख सहित 8 कांग्रेसी नेताओं पर मामला दर्ज किया गया है।