इस सिस्टम को किया जाएगा लागू, सरकारी बाबूओं की मर्जी पर लगेगी रोक

फरवरी के पहले सप्ताह से कलेक्ट्रेट कार्यालय और नगर पालिका में से पूर्ण रुप से लागू भी कर दिया जाएगा।

मंदसौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh)  के सरकारी दफ्तरों में बाबू की मनमर्जियां रोकने और कार्य में हो रही लापरवाही पर अंकुश लगाने के लिए जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय ने नई पहल की है। जिसके बाद अब नगर पालिका और कलेक्ट्रेट कार्यालय ने फाइलों को ऑनलाइन ट्रैक (online track) का सिस्टम शुरू किया है।

इतना ही नहीं किस कर्मचारी अधिकारी के पास कितने वक्त के लिए फाइल पड़ी रही। इसकी भी जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी। दरअसल मंदसौर (mandsaur) के जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय नगर पालिका में यह नवाचार किया गया है। जिसके बाद फाइलों को अपनी टेबल पर रोके रहने वाले कर्मचारी-अधिकारियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जाएगी। जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय में स्कोर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है और फरवरी के पहले सप्ताह से कलेक्ट्रेट कार्यालय और नगर पालिका में से पूर्ण रुप से लागू भी कर दिया जाएगा।

Read More: West Bengal : ममता सरकार को एक और बड़ा झटका- राजीव बनर्जी का इस्तीफा

इस मामले में मंदसौर डीएम मनोज पुष्प का कहना है की अभी की व्यवस्था के मुताबिक फाइल कई दिनों तक एक ही टेबल पर पड़े रहते हैं। जिससे जनता को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। एक बार फाइल पर बारकोडिंग करने के बाद उसे ट्रैक करने का सिस्टम विकसित किया जाएगा। गवर्नमेंट डिपार्टमेंट्स की निगरानी कर रहा है। वही कलेक्ट्रेट में इसकी शुरुआत हो चुकी है और नगर पालिका में ट्रेनिंग शुरू की जा चुकी है।

इसके साथ ही ई गवर्नेंस डिपार्टमेंट फाइल ट्रैकिंग सिस्टम की निगरानी करेगा हर फाइल को एक बार कोड दिया जाएगा। बार कोड के जरिए फाइल की एंट्री हर टेबल पर ऑनलाइन कंप्यूटर में दर्ज की जाएगी। इसके बाद इसे गूगल स्प्रेडशीट और एक्सल शीट के जरिए आसानी से क्या किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here