त्यौहारी सीजन में गुलजार हुए बाजार, अच्छे कारोबार की उम्मीद के साथ सजी दुकानें

कोरोना संक्रमण के चलते पिछले सात महिने से बाजार ठंडा पड़ा हुआ है। नुकसान झेल रहे कारोबारियों के लिए त्यौहारी सीजन उम्मीद की किरण बन कर आया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले सात महिने से बाजार ठंडा पड़ा हुआ है। नुकसान झेल रहे कारोबारियों के लिए त्यौहारी सीजन उम्मीद की किरण बन कर आया है। शनिवार को नवरात्र पर्व (Navratri festival) के साथ ही त्यौहारों का मौसम शुरू हो गया है। इसके साथ ही बाजारों में भी एक बार फिर से रौनक लौट आई है। ऐसे मेंं व्यापारियों को उम्मीद है कि लॉकडाउन में हुए नुकसान की भरपाई त्यौहारों में की जा सकेगी।

त्योहारी सीजन शुरू होने के साथ ही शहर के बाजारों में कारोबारी हलचल तेज हो गई है। कपड़ा, आटोमोबाइल (Automobile), सराफा समेत सभी बाजार सज कर पूरी तरह से तैयार हो गए है। लगातार लॉकडाउन व संक्रमण की वजह से कारोबार 30 से 40 फीसद भी रहा था, ऐेसे में व्यापारी नवरात्र से त्योहारी सीजन की शुरुआत होने से कारोबार बढऩे की उम्मीद जता रहे हैं। व्यापारियों को इस सीजन में 70 प्रतिशत तक रिकवरी की उम्मीद है। इसी के साथ नवरात्र, दशहरा के बाद दीवाली के मद्देनजर खासकर सराफा, वाहन कंपनियां कई ऑफर दे रही है। वहीं त्यौहारों के साथ ही अगले माह से शादियों का सीजन भी शुरू होने जा रहा है, ऐसे में सराफा और कपड़ा बाजार में भी रौनक देखने को मिल रही है। त्योहारी सीजन में कई शुभ योग भी बन रहे हैं। 17, 19, 23, 24 अक्टूबर सर्वार्थ सिद्ध योग बन रहे हैं जो खरीदारी के लिए अच्छे माने जाते है। यह भी बाजार के लिए शुभ संकेत है। इन खास योग में ग्राहक बड़ी संख्या में खरीदारी करने पहुंचेंगे।

ऑटोमोबाइल बाजार:
त्योहारों के समय ऑटोमोबाइल बाजार में धूम मची होती है। पिछले साल के रिकार्ड देखे तो नवरात्र से दिपावली तक बड़ी संख्या में वाहनों की खरीदारी की गई। इस साल भले ही अगस्त- सितंबर में वाहनों की बिक्री में मंदी थी, लेकिन अब दो पहिया और चार पहिया वाहनों के शो रुम पर ग्राहक बुकिंग के लिए पहुंच रहे हैं। बैंकों द्वारा लोन दरें घटाने और कंपनियों द्वारा ऑफर की बौछार करने से गाडिय़ों की बिक्री बढऩे की उम्मीद है। ऑटो विशेषज्ञों के मुताबिक इस सीजन में ऑटो इंडस्ट्री में गाडिय़ों की बिक्री 30 फीसद तक बढ़ सकती है।

सराफा बाजार:
इसी के साथ सराफा बाजार में भी अब हलचल तेज हो गई है। अगस्त के बाद से सोने के दाम में ज्यादा बढ़ोत्तरी नहीं हुई है, ऐसे में ग्राहक सराफा बाजार पहुंच रहे हैं। त्योहारों के अलावा शादियों के चलते भी लोग अभी से सोना और चांदी खरीद रहे हैं, जिससे सराफा बाजार में तेजी देखने को मिल रही है।

कपड़ा बाजार:
त्यौहार में कपड़ों की डिमांड भी बढ़ जाती है। ऐसे मेें कपड़ा बाजार भी पूरी तरह से सज कर तैयार है। नई वैरायटी और डिजायन के कपड़ों से दुकानें और शो रुम पूरी तरह से सज चुके है। लॉकडाउन के समय जून-जुलाई में कपड़ा कारोबार 20 फीसद भी नहीं रहा था। लेकिन लॉकडाउन खुलने के बाद अगस्त-सितंबर में कारोबार ने थोड़ी बढ़त ली। वहीं अब जब त्योहार शुरू हो गए है तो कपड़ा बाजार में तेजी आ गई है।

इसके अलावा मोबाइल और इलेक्ट्रानिक आयटम की डिमांड भी बढ़ गई है जिससे कारोबारियों के चेहरे खिल गए है और बाजार एक बार फिर गुलजार हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here