रात को रोकी मंत्री जी की गाड़ी, सुबह मंत्री पहुँच गए पुलिस कंट्रोल रूम

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। आम तौर पर यदि किसी रसूखदार व्यक्ति या राजनेता की गाड़ी को वाहन चैकिंग (Vehicle checking) के दौरान रोकती है तो वे भड़क उठते हैं और पुलिस (Police) से उलझकर अपने संबंध और रौब का इस्तेमाल करते हैं और अंदाजा लगाइये कि गाड़ी में यदि मंत्री बैठे हो तो क्या होगा? लेकिन आप जैसा सोच रहे हैं वैसा कुछ नहीं हुआ। पुलिस ने शनिवार रात ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) की गाड़ी रोकी, मंत्री जी ने गाड़ी से उतरकर गाड़ी चेक करवाई और पुलिस की प्रशंसा करते हुए रविवार को पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचकर पुलिसकर्मियों का सम्मान किया।

अपनी अलग कार्यशैली के लिए पहचाने जाने वाले ग्वालियर के विधायक एवं शिवराज सरकार (Shivraj government) के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Energy Minister Pradyuman Singh Tomar) ने एक बार फिर सहजता और सरलता का उदाहरण पेश किया । दरअसल वे शनिवार को रात में करीब साढ़े दस बजे अपनी ही विधानसभा में एक शादी समारोह में शामिल होकर चार शहर का नाका, हजीरा से घर की तरफ लौट रहे थे। तभी हजीरा थाने के स्टाफ ने उनकी गाड़ी को चैकिंग पॉइंट पर रोक लिया। चूंकि मंत्री के साथ कोई पायलट और फॉलो नहीं था इसलिए कोई समझ नहीं पाया कि गाड़ी में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर हैं । मंत्री की मौजूदगी का अहसास होते ही चैकिंग पॉइंट पर मौजूद टी आई और अन्य स्टाफ घबरा गया। लेकिन मंत्री जी ने गाड़ी से उतरकर खुद गाड़ी चेक करवाई और पुलिस कर्मियों की कार्यशैली की प्रशंसा की।

कंट्रोल रूम पहुंचकर किया सम्मानित

हजीरा थाना स्टाफ की चैकिंग व्यवस्था से प्रभावित हुए ऊर्जा मंत्री तोमर ने चैकिंग में लगे स्टाफ को सम्मानित करने का फैसला किया और एसपी अमित सांघी को फोन कर अपनी इच्छा जताई। तय समय पर मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पुष्पहार लेकर पुलिस कंट्रोल रूम पहुँच गए उन्होंने हजीरा थाना टी आई मनोज शर्मा सहित चैकिंग में लगे पूरे स्टाफ को पुष्प हार पहना कर सम्मानित किया और उन्हें नगद पुरस्कार भी दिया।

मंत्री के निर्देश, किसी को अनावश्यक परेशान ना किया जाए

पुलिस कर्मियों का सम्मान करने के बाद मंत्री तोमर ने मीडिया से कहा कि शहर की कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई प्रशंसनीय है यदि शहर में सभी थाना क्षेत्रों में इसी तरह से पुलिस कर्मी पूरी मुस्तैदी से चैकिंग करेंगे तो यातायात तो सुधरेगा ही साथ ही अपराध भी रुकेंगे। लेकिन इस दौरान उन्होंने पुलिस को स्पष्ट शब्दों में कहा कि ये भी ध्यान रखना होगा कि चैकिंग के नाम पर किसी को अनावश्यक रूप से परेशान ना किया जाए।

एसपी ने कहा मंत्री जी के सम्मान ने हौसला बढ़ाया

मंत्री तोमर के पुलिसकर्मियों को सम्मानित किए जाने के कदम को ग्वालियर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने भी सराहा । उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों को इस तरह प्रोत्साहित करने से उनका मनोबल बढ़ता है । मंत्री जी ये प्रयास उन लोगों के लिये नजीर बन सकता है जो चैकिंग के दौरान अनावश्यक रूप से पुलिस से उलझते हैं ।