केदारधाम में लगा मोबाइल पर प्रतिबंध, समिति ने लिया फैसला, आमजन ने किया फैसले का स्वागत

Avatar
Published on -
Kedarnath Temple Mobile Ban

Kedarnath Temple Mobile Ban : केदारनाथ मंदिर पर ना तो रील्स बनाई जा सकेंगी ना ही फोटो खींची जा सकेंगी। अब ना तो कोई धाम पर किसी को अंगूठी देकर प्रपोज कर सकेगा और ना ही कोई हर हर शंभू पर नाच कर सोशल मीडिया पर रील डाल सकेगा।

दरअसल, अभी कुछ समय पहले एक महिला द्वारा मंदिर परिसर के भीतर न केवल एक विवादास्पद वीडियो बनाया गया बल्कि उसके द्वारा इस वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल भी किया गया। इस वीडियो के वायरल होने के बाद श्रद्धालुओं ने इसकी भारी आलोचना भी की।

कई श्रद्धालुओं ने इस तरह की हरकत को मंदिर की भव्यता और प्रतिष्ठा के खिलाफ बताया। जिसके बाद आज मंदिर समिति ने इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए मंदिर परिसर के अंदर वीडियो बनाने और फोटो खींचने तथा मोबाइल ले जाने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है।

समिति द्वारा लगाए गए इस प्रतिबंध का लोगों ने सोशल मीडिया पर अपने कमेंट के माध्यम से समर्थन भी किया है। इस प्रतिबंध पर एक यूजर ने लिखा कि पहले लोग बड़े ही मुश्किल में इन पवित्र स्थानों पर पहुंच पाते थे लेकिन आजकल रील्स बनाने वालों इस जगह को अपना बेडरूम समझ कर पहुंच जाया करते हैं। वहीं एक और यूजर ने लिखा कि जो सच्चे भक्त होते हैं वह रील्स नहीं बनाते बल्कि दोनों हाथ जोड़कर भगवान केदारनाथ की परिक्रमा करते हैं।

हालांकि लोगों का यह भी मानना है कि इस प्रतिबंध का असर उन लोगों पर भी पड़ेगा जो रील बनाने के लिए नहीं बल्कि याद के तौर पर केदारधाम पर अपनी फोटो खिंचवाते थे।


About Author
Avatar

Ayushi Jain

मुझे यह कहने की ज़रूरत नहीं है कि अपने आसपास की चीज़ों, घटनाओं और लोगों के बारे में ताज़ा जानकारी रखना मनुष्य का सहज स्वभाव है। उसमें जिज्ञासा का भाव बहुत प्रबल होता है। यही जिज्ञासा समाचार और व्यापक अर्थ में पत्रकारिता का मूल तत्त्व है। मुझे गर्व है मैं एक पत्रकार हूं। मैं पत्रकारिता में 4 वर्षों से सक्रिय हूं। मुझे डिजिटल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया तक का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कंटेंट राइटिंग, कंटेंट क्यूरेशन, और कॉपी टाइपिंग में कुशल हूं। मैं वास्तविक समय की खबरों को कवर करने और उन्हें प्रस्तुत करने में उत्कृष्ट। मैं दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली से संबंधित विभिन्न विषयों पर लिखना जानती हूं। मैने माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से बीएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में ग्रेजुएशन किया है। वहीं पोस्ट ग्रेजुएशन एमए विज्ञापन और जनसंपर्क में किया है।

Other Latest News