मुरैना : नाबालिग के साथ शादी रचा रहा था 25 वर्षीय दूल्हा, चाइल्ड लाइन संस्था ने वापस लौटाया

मुरैना जिले में नाबालिग की शादी 25 वर्षीय दुल्हे के साथ कराई जा रही थी। जिसे चाइल्ड लाइन की टीम ने समय पर आकर रुकवा दिया।

मुरैना, संजय दीक्षित। जिले के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के छौन्दा गांव में नाबालिग का विवाह एक 25 वर्षीय दूल्हा सतीश खटीक के साथ होने जा रहा था। चाइल्ड लाइन संस्था (Child line organization) के अधिकारियों को जानकारी मिलते ही टीम मौके पर पहुंची और शादी को रुकवाया गया। नाबालिग बच्ची को वनस्टॉप सेंटर भिजवा दिया गया है।

यह भी पढ़ें:-कोविड टेस्ट के 20 दिन बाद वुशु खिलाड़ी के घर पर पोस्टर चस्पा, 1 मई तक क्वारंटीन

जानकारी के अनुसार 17 वर्षीय नाबालिग की शादी भिंड के 25 वर्षीय दूल्हा सतीश खटीक के साथ संप्पन हो रही थी। चाइल्ड लाइन संस्था के अधिकारियों को जैसे ही नाबालिग की शादी होने की सूचना मिलते ही महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी मनीष सिंह के साथ सिविल लाइन पुलिस के साथ मौके पर पहुंच गए। जैसे ही शादी समारोह के बीच पुलिस और अधिकारी पहुंचे तो शादी में मौजूद इधर उधर भागने लगे। पुलिस ने जाकर फेरों को रुकवाया। दूल्हे के पिता ने पुलिस से काफी मिन्नत की लेकिन दूल्हे के पिता की एक न चली और दूल्हा बना बेटे व बारात को लेकर चुपचाप वापस लौटना पड़ा। वहीं जब दूल्हे और दुल्हन की उम्र के बारे में पता किया तो दुल्हन नाबालिग थी और दूल्हा 25 वर्ष का था।

यह भी पढ़ें:-इंदौर में जूते पहन पूजा करते पुजारी की फोटो वायरल, लोगों ने किया विरोध तो पुजारी ने दी ये सफाई

बताया जा रहा है कि लड़की के पिता का स्वर्गवास होने के कारण घरवाले ही अधिक उम्र के दूल्हे के साथ बच्ची का शादी रचा रहे थे। शादी में गए बारातियों का भव्य स्वागत किया गया लेकिन बिना दुल्हन के ही बारात को वापस भिंड लौटना पड़ा।पु लिस ने लड़की से बात करने के बाद शादी को रुकवाया और बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया। उसके बाद नाबालिग को वन स्टॉप सेंटर भेज दिया गया है।